सूरत कोचिंग अग्निकांड: स्‍टूडेंट ने बताया कि ‘मेरे पास बिल्डिंग से कूदने के अलावा कोई और रास्‍ता नहीं था’

0
318

सूरत के एक चार मंजिला वाणिज्यिक परिसर में शुक्रवार दोपहर आग लगने से एक कोचिंग क्लास की 16 लड़कियों सहित 20 छात्रों की जलकर मौत हो गई। इनमें से कुछ की इमारत से कूदने की वजह से तो कुछ की दम घुटने से मौत हुई। आग इतनी भयानक थी, कि छात्र इस विनाशकारी आग से बचने के लिए इमारत की तीसरे और चौथे फ्लोर से छलांग लगा दी । कूदने वाले लोगों में से तीन की मौत हो गई, और एक छात्र बाख गया है|

Advertisement

ये भी पढ़े: 500 फ्लैट्स वाली 5 इमारतों को सुप्रीम कोर्ट ने ढहाने का क्यों दिया आदेश – जानिए वजह  

इस हादसे में बचे छात्र का नाम रुशित वेकारिया है, इस छात्र नें बताया कि उसके पास तीसरी मंजिल से कूदने के अलावा और कोई रास्ता नहीं था। रुशित वेकारिया ने बताया कि, “कोचिंग सेंटर के एसी से निकल रही आग से हम सभी स्टूडेंट्स डर गए थे| कोचिंग में पढ़ा रहे टीचर ने कहा कि किसी ने बाहर आग जलाई होगी, यह धुंआ उसी से आ रहा है|  जब धुंआ लगातार बढ़ता गया तो सभी विद्यार्थी अंतिम कमरे में सुरक्षा के लिए चले गए, जब सांस लेने में दिक्‍कत होने लगी तो हमने खिड़कियों को खोल दिया.”

बिल्डिंग में आग आने जाने के लिए बनाई गई सीढ़ियों के पास रखे ट्रांसफॉर्मर में लगी थी। जैसे ही आग लगी अंदर उपस्थित छात्र उतरने के लिये नीचे पहुंचे, परन्तु आग इतनी अधिक थी, कि वह लौटकर चौथी मंजिल पर चले गए, जहां एक फाइबर का शेड था और अंदर जिम के लिए रखी गई रबर की चटाई और टायर के कारण आग ज्यादा फैली, जिससे बच्चे आग की चपेट में आ गए।

ये भी पढ़े: Uttarakhand Board Result 2019: 30 मई को जारी होगा 10वी और 12वी रिजल्ट

Advertisement