अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के बयान पर विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिया यह जवाब

0
291

अब एक बार फिर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कश्मीर मामले में मध्यस्थता को लेकर  बयान जारी किया है| ट्रंप ने कहा है कि, अगर भारत और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री चाहें तो वो इस मसले में मदद के लिए तैयार हैं। बता दें, कि इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कश्मीर मुद्दे को हल करने के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थ के रूप में कार्य करने की पेशकश की थी, लेकिन भारत ने इसे स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया और इसी के साथ कि, यह एक द्विपक्षीय मुद्दा है।

Advertisement

इसे भी पढ़े: अमेरिकी राष्ट्रपति के कश्मीर मुद्दे पर दिए गए बयान पर लोकसभा और राज्यसभा में हंगामा

वहीं विदेश मंत्री एस जयशंकर, 9वें पूर्वी एशिया शिखर सम्मेलन के विदेश मंत्रियों की बैठक होनें के दूसरे ही दिन अपने अमेरिकी समकक्ष विदेश मंत्री माइकल पोम्पिओ से मुलाक़ात की और कहा कि, कश्मीर पर कोई चर्चा केवल भारत और पाकिस्तान के बीच होगी। 

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पोम्पिओ से मुलाकात की और इसके बाद ट्वीट करते हुए कहा कि, ‘आज सुबह अमेरिकी समकक्ष माइक पोम्पिओ को स्पष्ट शब्दों में अवगत कराया, कि कश्मीर पर कोई भी चर्चा, यदि सभी संभव हैं तो वह केवल और केवल पाकिस्तान के साथ होगी।’

बता दें कि, अभी कुछ समय पहले ही मीडिया ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से कश्मीर मामले में मध्यस्थता को लेकर सवाल पूछा था। जिसके जवाब में ट्रंप ने कहा कि, अगर भारत-पाकिस्तान चाहें तो वो इस मसले पर मध्यस्थता के लिए तैयार हूं।

ट्रंप ने अपने पूरे बयान में कहा, ‘ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और पाक पीएम इमरान खान के ऊपर है। वे शानदार लोग हैं, अगर वो चाहते हैं कि इस मसले में मदद के लिए कोई हस्तक्षेप करे। मैंने इसको लेकर पाकिस्तान और भारत से बात की है, क्योंकि लेकिन लंबे समय से यह लड़ाई चल रही है।’

इसे भी पढ़े: भारत ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के दावे को किया खारिज, कहा – पीएम मोदी ने कभी नहीं मांगी मदद

Advertisement