विकास दूवे एनकाउंटर केस में Supreme Court में 2 याचिका दाखिल , न्यायालय की देख में जांच की मांग

उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने विकास दूवे एनकाउंटर केस में दो याचिकाएं दाखिल की गई हैं | याचिकाओं में उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) की देख रेख में जांच करने की मांग किया गया है | इनमे से एक याचिका अधिवक्ता अनूप प्रकाश अवस्थी द्वारा दाखिल किया गया है | इस याचिका में दो जुलाई को हुई मुठभेड़ में 8 पुलिस कर्मियों की हत्या और इसके बाद विकास दूवे व उसके साथियों की पुलिस मुठभेड़ की न्यायालय की देख रेख  में CBI / NIA या SIT से जांच कराने की याचिका में मांग की गई है |

प्रधानमंत्री मोदी ने किया एशिया के सबसे बड़ा सोलर प्लांट का उद्घाटन

पीपुल्स यूनियन ऑफ सिविल लिबर्टीज ( PUCL) ने एक अन्य याचिका  दाखिल की है, जिसमें लिखा  गया है कि इस प्रकार की हुई मुठभेड़ एक गंभीर अपराध है और इससे पूरे समाज के विरुद्ध अपराध है | याचिका में उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) के सेवानिवृत्त न्यायाधीश की अध्यक्षता वाली टीम के गठन की मांग की जताई गई है | जो कि उत्तर प्रदेश में हों रहें मुठभेड़ों और आपराधिक राजनीतिक समूहों के बारे में पता लगाए |

अमेरिका और भारत के बीच 24 MH-60R पर सौदा

दिल्ली के अधिवक्ता अनूप प्रकाश अवस्थी ने दायर याचिका में कहा गया है, कि विकास दूवे और उनके साथियों की हत्या के पश्चात पुलिस की कार्रवाई पुलिस-अपराधी और नेताओं के समर्थकों के मुख्य गवाह को समाप्त करने के लिए की गई है | इस याचिका में ये भी कहा गया है किउत्तर प्रदेश फर्जी मुठभेड़ों के लिए विख्यात है | विकास दूवे 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद ऐसा लगता है कि वह गायब हो गया है | विकास दूवे के घर को तोड़ कर सभी प्रमाण मिटा दिए गए थे | विकास दूवे ने 8 पुलिसकर्मियों की हत्या में प्रयोग किए गए अत्याधुनिक हथियारों की जांच होनी चाहिए कि उन्हें ये हथियार कहाँ से मिलता है |

Air India में सरकार बेचेगी 100 प्रतिशत की हिस्सेदारी