Sunday, April 18, 2021
HomeHealthटाईफाइड क्या है, यह कैसे होता है - जानिए इसके लक्षण और...

टाईफाइड क्या है, यह कैसे होता है – जानिए इसके लक्षण और बचनें के उपाय

What is Typhoid: जिन लोगों के काफी लम्बे समय से लगातर बुखार आ रहा होता है, उन्हें टायफाइड का बुखार बन जाता है| टाईफाइड को मियादी बुखार भी कहा जाता है। यह एक तरह का संक्रामक बुखार होता है,  जो किसी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में बहुत जल्द फैलने का डर रहता है | यह ऐसा बुखार होता है, जो बड़ो के साथ-साथ बच्चों के भी अपना शिकार बना लेता है, इसलिए जानिये कि, टाइफाइड क्या है, कैसे होता है और इसके लक्षण और बचने के क्या उपाय हैं?

इसे भी पढ़े: प्लेटलेट्स की संख्या बढ़ाने के लिए इन चीजों को डाइट में करें शामिल

जाने क्या है टायफाइड

टायफाइड लम्बे समय से आ रहा एक बुखार होता है, जो किसी दूषित पानी से नहाने या दूषित पानी का भोजन में इस्तेमाल करने से हो जाता है| यह सेलमोनेला टायफाई बुखार बैक्टीरिया द्वारा एक दूसरे व्यक्ति के फैल जाता है| यह एक ऐसा बैक्टीरिया होता है, जो खाने या पानी के माध्यम से मनुष्य द्वारा ही एक जगह से दूसरी जगह पर अन्य लोगों में फैल जाता है। इसके अलावा यदि घर में किसी एक सदस्य को टायफायड हो जाता है, तो घर के अन्य सदस्यों को भी इसके होने का खतरा बना ही रहता है। इसलिए ऐसा होने पर आप टायफाइड से ग्रसित युवक से थोड़ी दूरी बनाकर रखें|

टाइफाइड के लक्षण 

1. जब  आपका बुखार 102 डिग्री सेल्सियस से ऊपर पहुंच जाता है, तो समझ जाइये कि आपके टाइफाइड का बुखार है, क्योंकि ऐसे में  शरीर में बहुत कमजोरी भी आ जाती है।

2.पेट में दर्द, सिर में दर्द भी होने लगता है, इसके साथ ही भूख भी नहीं लगती है| टाइफाइड हो जाने पर सुस्ती, उल्टी और कमजोरी भी आनी शुरू हो जाती है| 

3.टाइफाइड बुखार में बड़ों को कब्ज और छोटे बच्चों को दस्त आना शुरू हो जाती है| 

4.इस बुखार में लीवर में इंफेक्शन बन जाता है, जिसकी वजह से  शरीर के हर अंग में संक्रमण होने की संभावना रहती है, जिससे कई अन्य संक्रमित बीमारियां भी हो सकती है|

5.इस बुखार में भूख बढ़ना या कम होना , पेट दर्द और बहुत अधिक सिरदर्द भी होने लगता है|

टाइफाइड बुखार होने पर यह कर सकते है इस्तेमाल 

टाइफाइड बुखार में आप मरीज को दवाइयों के अलावा कुछ घरेलू चीजें  भी दवा के रूप में दे सकते हैं।  जिससे बुखार जल्द ठीक होने में मदद मिल जाए ।  यदि आपके टाइफाइड का बुखार है, तो आप प्याज के रस का सेवन करें इससे बहुत जल्द बुखार ठीक होने में मदद मिलेगी और साथ ही इसे पीने से शरीर से बैक्टीरिया भी  गायब हो जाते हैं। इसलिए टाइफाइड  से ग्रसित मरीज को नियमित रूप से दिन में कम से कम 2 बार प्याज का रस  पीना चाहिए  इससे आपको कब्ज और पेट की समस्यामें भी काफी राहत मिलेगी |

इसे भी पढ़े: हार्ट अटैक और कार्डियक अरेस्ट में क्या अंतर होता है?

टाइफाइड से बचने के उपाय 

1. इस बुखार का सामना कर रहें मरीज को अधिकतर गर्म पानी पीना चाहिए  क्योंकि, अधिक पानी पीने से शरीर का जहर पेशाब और पसीने के रूप में शरीर से बाहर निकल जाता है। जिससे बुखार में धीरे-धीरे राहत मिलने लगती है | 

2. टाइफाइड का बुखार होने पर आप लहसुन की कली 5-10 ग्राम तक काटकर तिल के तेल में या घी में तलकर उसमें  सेंधा नमक मिलाकर खाएं इससे भी आपको बुखार में काफी आराम मिलेगा|

3. यदि आपको बहुत तेज बुखार है, तो आप अपने माथे पर ठन्डे पानी की पट्टियां रखें क्योंकि ऐसा करने से बुखार थोड़ा कम हो जाता है और बुखार की गर्मी सिर पर नहीं चढ़ती है। जिससे सर में दर्द भी कम होता है |

4. टाइफाइड का बुखार होने पर तुलसी और सूरजमुखी के पत्तों का रस बनाकर पियें इससे आपका बुखार बहुत जल्द उतर जाएगा | इस रस को सुबह नियमित रूप से पीना चाहिए | 

5. केला,चीकू,पपीता,सेब, मौसमी और संतरा का सेवन करने से भी इस बुखार में जल्दी राहत मिल जाती है | आप फल खाने की बजाए  इनका जूस भी पी सकते हैं। वहीं, केला खाने से शारीरिक कमजोरी दूर हो जाती  है। 

इसे भी पढ़े: पेट में दर्द होनें पर खुद न लें दवा, इससे हो सकती है गंभीर बीमारी

RELATED ARTICLES

Most Popular

Recent Comments