लोन लेने वाले सभी ग्राहकों को होगा फायदा, सभी बैंकों में 1 अक्टूबर से लागू होगा यह नियम

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने सभी बैंकों को हर प्रकार के लोन (Home, Auto loans)  रेपो रेट से जोड़ने का आदेश जारी कर दिया है| इसके बाद अब 1 अक्टूबर से बैंक सभी तरह के फ्लोटिंग होम लोन, ऑटो लोन, पर्सनल और छोटे उद्योगों के लिए लिये जाने वाले लोन ज्यादा ट्रांसपेरेंट कर देगा| वहीं अब बैंकों में एक्सटर्नल बेंचमार्क का नियम लागू करनें के पश्चात ग्राहकों को इसका लाभ मिलनें लगेगा|  

इसे भी पढ़े: RBI ने 3 बैंकों को दी राहत, अब ये बैंक लोन दे सकेंगे

रिजर्व बैंक ने नोटिफिकेशन जारी करते हुए 1 अक्टूबर से इसे सभी बैंकों के लिए लागू करने का आदेश दिया है| एक्सटर्नल बेंचमार्क रिजर्व बैंक की तरफ से तय किये गए रेपो रेट या फिर 3 महीने या 6 महीने का ट्रेजरी बिल रहेगा| इसके लिए बैंकों को भी छूट दी जाएगी, कि वो बेंचमार्क के ऊपर जितना चाहें स्प्रेड यानि एक तरह से कहें तो मार्जिन जोड़ सकते हैं| इसी के साथ ये भी कहा गया है कि, बैंकों को हर तीन महीने में एक्सटर्नल बेंचमार्क को री-सेट करना होगा|

कुछ ग्राहक ऐसे हैं जो मौजूदा MCLR या पुराने बेस रेट वाले सिस्टम पर हैं| अगर वो अपने मौजूदा लोन का प्री-पेमेंट कर नए बेंचमार्क वाले लोन में स्विचओवर करने के विचार में है, तो बैंक में उन्हें इसके लिए किसी भी तरह की मोटी रकम नहीं चुकानी पड़ेगी और न ही उनसे नए बेंचमार्क वाले रेट से अधिक ब्याज लिया जाएगा|   

इसे भी पढ़े: RBI के डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य का इस्तीफा: मीडिया रिपोर्ट