अयोध्या विवाद: मध्यस्थता की कोशिश फेल, सुप्रीम कोर्ट ने कहा – 6 अगस्त से रोजाना होगी सुनवाई

0
336

अब सुप्रीम कोर्ट ने आदेश दिया है कि, अयोध्या में राम मंदिर और बाबरी मस्जिद विवाद की अब 6 अगस्त से प्रतिदिन सुनवाई जारी रखी जाएगी| बता दें, कि जब मध्यस्थता की कोशिश फेल हो गई, तो इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार 2 अगस्त को इस मामले पर सुनवाई के लिए आगे की रूपरेखा तय करते हुए कहा कि, अब इस मामले की सुनवाई तब तक चलेगी, जब तक कोई नतीजा नहीं निकल जाता है। 

Advertisement

इसे भी पढ़े: अयोध्या विवाद / चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में आज होगी मामले की सुनवाई

गुरुवार 1 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट में मध्यस्थता समिति ने सीलबंद लिफाफे में फाइनल रिपोर्ट पेश कर दी थी। सुप्रीम कोर्ट ने पहले ही कहा था कि, अगर आपसी सहमति से कोई हल नहीं निकलता है, तो रोजाना सुनवाई होगी। अब वहीं 6 अगस्त से इस मामले पर रोजाना सुनवाई होने का यह फैसला चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली संवैधानिक पीठ ने किया है | इस बेंच में जस्टिस एसए बोबडे, जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस एसए नजीर और जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ शामिल हैं।

गुरुवार 1 अगस्त को  सुप्रीम कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि, इस मामले में मध्यस्थता की कोशिश सफल नहीं हुई है। वहीं समिति और बाहर पक्षकारों के रुख में किसी प्रकार का बदलाव नहीं नजर आया है| कोर्ट ने अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद मामले में गठित मध्यस्थता कमिटी भंग करते हुए कहा कि, 6 अगस्त से अब मामले की रोज सुनवाई होगी। यह सुनवाई हफ्ते में तीन दिन मंगलवार, बुधवार और गुरुवार को होगी। 

इसे भी पढ़े: 2 अगस्त से सुप्रीम कोर्ट करेगा अयोध्या राम जन्मभूमि विवाद की रोजाना सुनवाई

Advertisement