भगवान शिव की आंख से गिरे आंसू से हुई थी इस वृक्ष की उत्पत्ति, क्या आप जानते हैं इस रहस्य को

0
343

आपने अधिकतर लोगों को देखा होगा कि वे लोग गले में रुद्राक्ष की माला अपने गले में पहने रहते हैं और वहीं कुछ लोग रुद्राक्ष की माला को फेरते भी हैं | क्या आपको मालूम है कि इस रुद्राक्ष की उत्पत्ति कैसे हुई है या फिर कहें कि भगवान शिव की आँख से गिरे आंसू से कौन से वृक्ष की उत्पत्ति हुई है | इसका क्या रहस्य है? इसलिए आप भी जान लीजिये इस रहस्य के बारे में –

Advertisement

पुराणों में बताया गया है कि एक बार भगवान शिव माता सती के वियोग में बैठे हुए थे और तभी उनका ह्रदय द्रवित हो उठा और उनकी आँखों से आंसू निकलने लगे और वही आंसू कई स्थानों पर जाकर गिरे और जहाँ – जहाँ भगवान शिव के आंसू गिरे थे तो उन्हीं स्थानों पर रुद्राक्ष के वृक्षों की उत्पत्ति हो गई |

ये भी पढ़ें: किस देवी – देवता को कौन से फूल करें अर्पण – पढ़े और जाने

इसके अतिरिक्त पुराणों में कहा गया है कि सतयुग में ब्रह्माजी के वरदान से प्रबल होकर त्रिपुर नामक दैत्य तीनों लोको का विनाश करने की योजना बनाने में लगा था | इसे देखकर सभी देवी-देवताओं ने भगवान शिव से प्रार्थना कर उसके साथ युद्ध करने के लिए कहा | युद्ध करने के दौरान शिव के शरीर से पसीने की बूंदे धरती के कई स्थानों पर जा गिरी और उन सभी स्थानों पर रुद्राक्ष के वृक्ष की उत्पत्ति हो गई |

इसी तरह भगवान शिव की आँखों से गिरे आंसू और उनके शरीर से निकले हुए पसीने से रुद्राक्ष के वृक्ष की उत्पत्ति हुई है |

ये भी पढ़ें: शिव के नामों का रहस्य शायद आपको नहीं होगा मालूम

Advertisement