आँखें झपकाना है जरूरी, कम पलकें झपकाने से हो सकती है ये बीमारी

पलकें झपकाना सामान्य शारीरिक प्रक्रिया होती हैं| बहुत से लोग ऐसे होते हैं, जो अपने काम करते समय या फिर कुछ पढ़ते समय या कुछ देखते समय अपनी पलके बहुत काम झपकाते हैं| आँखों की पलके झपकाना बहुत जरूरी होता है| वहीं जो लोग बहुत कम पलके झपकाते हैं, उन्हें कई समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है| आमतौर पर ऐसा माना जाता है कि, आंखों की तरलता बनाए रखने के लिए पलकों का झपकना बेहद जरूरी है, लेकिन शोधकर्ताओं के मुताबिक पलकें झपकाने से दिमाग को ताजगी मिलती है, क्योंकि पल भर के इसी लम्हें में हमारा दिमाग आराम कर लेता है।

आंसू को हम दुखों का पर्याय मानते हैं, पर आंखों की अच्छी सेहत के लिए आखों से आंसू   निकलना भी बहुत जरूरी रहता है| आँखों से आंसू निकलने से ही आंखों की कुदरती नमी बरकरार रहती है, लेकिन आजकल लोगों की आंखों में रूखेपन की समस्या पाई गई है।  सामान्य दृष्टि के लिए आंखों में नमी होना बहुत ही आवश्यक हैं|

इसे भी पढ़े: अगर आपको भी रात में बुरे सपनें डराते है, तो अपनाये ये ट्रिक्स

कम पलके झपकाने से हो सकती हैं ये बीमारी 

आपने अक्सर देखते होंगे कि, जिन लोगों की आँखों कोई समस्या नहीं होती हैं, तो उनकी आंखों की पुतलियां हमेशा गीली दिखाई देती हैं। जानकारी देते हुए बता दें कि, आंखों की पुतलियों पर एक खास तरह का लिक्विड पाया जाता है, जो ल्युब्रिकेंट की तरह काम करता है। वहीं जब आप पलकें झपकाते हैं, तो ये ल्युब्रिकेंट पुतलियों में अच्छी तरह फैलता रहता है जिससे आंखों की पुतलियों पर नमी बनी रहती है। वहीं जब आप पलकें कम झपकाते हैं, तो ल्युब्रिकेंट सही तरीके से आंखों में नहीं फैल पाता है। जिसकी वजह से आंखों में सूखापन आ जाता है, जिसे ड्राई आई सिंड्रोम जैसी बड़ी समस्या हो जाती है|

आखों की समस्या से बचाव एवं उपचार  

1.आप अपनी आँखों को सुरक्षित रखने के लिए जब भी घर से बाहर निकले तो अच्छी क्वॉलिटी का सनग्लास पहनकर निकलें|

2.आमतौर पर आंखों की नमी बढ़ाने  वाले आई ड्राप्स से ड्राई आई की समस्या आसानी से खत्म हो जाती है|

3.जो लोग कंप्यूटर पर काम करते या पढते हैं, तो वो हर एक घंटे के अंतराल पर अपनी आँखों को आराम देने के लिए दो मिनट के लिए बंद करें|

4.ओमेगा-3 फैटी एसिड आंखों के लिए बहुत आवश्यक होती है| मछली, अखरोट, बादाम और फ्लैक्ससीड में यह तत्व भरपूर मात्रा में मौजूद रहता है|

5.अपने भोजन में ऐसी चीजों का सेवन करें, जिनमें एंटी ऑक्सीडेंट तत्व और विटमिन ए पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है,  इसके लिए संतरा, पपीता, आम, नीबू और टमाटर आदि का सेवन करना काफी फायदेमंद साबित होता है|

इसे भी पढ़े: हेल्थ टिप्स : ऐसे रखे व्रत के दौरान अपनी सेहत का ध्यान, जानिए ये जरूरी बातें