CJI का बड़ा फैसला, इस दिन तक पूरी हो जाएगी अयोध्या मामले की सुनवाई

काफी लम्बे समय चल रहे अयोध्या मामले में अब सुनवाई के दौरान सीजेआई रंजन गोगोई ने एक बार फिर कहा है कि, “18 अक्टूबर तक सुनवाई खत्म होना जरूरी है| इसी के साथ कहा कि, ‘अगर चार हफ्ते में हमने फैसला दे दिया तो ये एक चमत्कार की तरह होगा, लेकिन अगर सुनवाई 18 अक्टूबर तक खत्म नहीं हुई तो फैसला संभव नहीं हो पाएगा| साथ ही CJI ने कहा कि, “आज का दिन मिलाकर 18 अक्टूबर तक हमारे पास साढे दस दिन हैं|” रंजन ने कहा कि, ’18 अक्टूबर के बाद एक भी दिन अतिरिक्त नहीं है, इसलिए पक्षकार इसी समय सीमा में सुनवाई पूरी करें|”

इसे भी पढ़े: चीफ जस्टिस ने अयोध्या मामले में की टिप्पणी, कहा – ‘18 अक्टूबर तक पूरी हो सुनवाई’

वहीं फिर मीनाक्षी अरोडा ने कहा कि, “वह आज खत्म कर देंगी | हिंदू पक्ष ने कहा कि, जवाब देने के लिये 3 से 4 दिन का समय चाहिए| वहीं राजीव धवन से कोर्ट ने पूछा कि, सूट नं 4 पर बहस करने के लिये 2 दिन पर्याप्त हैं? धवन ने कहा कि, हम शनिवार को भी बहस कर सकते हैं|’

जानकारी देते हुए बता दें कि, इससे पहले भी सीजेआई रंजन गोगोई ने 18 सितंबर को  कहा था कि, सभी को संयुक्त प्रयास करना होगा और पक्षकार समझौता कर अदालत को बताए| इसके साथ ही उन्होंने इस केस की सुनवाई 18 अक्टूबर तक पूरी हो जाने की उम्मीद जताई थी|

CJI ने कहा था, ”हमें उम्मीद है कि हम अयोध्या राम जन्मभूमि मामले में 18 अक्टूबर तक सुनवाई पूरी कर लेंगे. इसके लिए हम सभी को संयुक्त प्रयास करना होगा. इसके बाद जजमेंट लिखने के लिए जजों को चार हफ्तों का वक्त मिलेगा|” इसी के साथ सुप्रीम कोर्ट ने कहा, ”अगर पक्षकार इस मामले को मध्यस्थता समेत अन्य तरीके से सैटल करना चाहते हैं तो कर सकते हैं| पक्षकार समझौता कर अदालत को बताएं|”

इसे भी पढ़े: अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस का बड़ा बयान, 18 अक्टूबर तक सुनवाई पूरी होने की उम्मीद