गुरदासपुर लोकसभा सीट का इतिहास, यहां कितने है मतदाता – यहां देखें

0
379

भारत-पाकिस्तान बॉर्डर से 10 किलोमीटर दूर गुरदासपुर लोकसभा है, नियंत्रण रेखा के पास होने से यहाँ पर सदैव सुरक्षा व्यवस्था चाक- चौबंद रहती है | लोकसभा चुनाव 2014 में विनोद खन्ना यहाँ से भाजपा के सांसद चुने गए थे | विनोद खन्ना का अकस्मात् निधन होने के बाद यहां पर उपचुनाव हुए जिसमें कांग्रेस के सुनील जाखड़ ने जीत दर्ज की थी |

Advertisement

ये भी पढ़ें: लोकसभा चुनाव पांचवां चरण: स्मृति ईरानी ने कांग्रेस पर लगाया बूथ कैप्चरिंग का आरोप

गुरदासपुर लोकसभा सीट का इतिहास

इस सीट पर पहली बार चुनाव वर्ष 1951 में हुआ था जिसमें कांग्रेस के तेजा सिंह ने जीत दर्ज की थी | इसके बाद 1957, 1962 व 1967 में कांग्रेस के दीवान चंद ने अपनी जीत का झंडा फहराया था | वर्ष 1970 में उपचुनाव हुए थे जिसमें के पी. चंद्रा को जीत मिली थी | इसके बाद 1971 में कांग्रेस के प्रबोध चंद्रा के पास यह सीट चली गयी | 1977 में BLD के यज्ञ दत्त ने यहाँ पर जीत दर्ज की | 1980, 1984, 1989, 1991 व 1996 में लगातार कांग्रेस की सुखबंस कौर भिंडर को जीत मिली | इसके बाद 1998, 1999 व 2004 तक BJP के विनोद खन्ना को जीत मिली यह राजनेता से पहले फिल्म अभिनेता थे | वर्ष 2009 में यह सीट फिर कांग्रेस के पास चली गयी यहां पर प्रताप सिंह ने जीत दर्ज की |

यहां कितने है मतदाता

गुरदासपुर लोकसभा सीट के लिए कुल 13,18,967 वोटर्स हैं, इनमें 6,78,996 पुरुष और 6,39,971 महिला वोटर्स हैं | यहाँ पर 9 विधानसभा सीटें हैं |

ये भी पढ़ें: वरुण गांधी ने एक बार फिर दिया विवादित बयान, महागठबंधन के लोगों को बताया पाकिस्तानी

Advertisement