UN में पाकिस्तान के झूठ को भारत ने किया बेनकाब, विदिशा मैत्रा ने कहा- ‘आतंकियों को पेंशन देती है पाक सरकार’

भारत ने संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान के हर झूठे बयान पर पर कड़ा जवाब दिया है| भारत की प्रथम सचिव विदिशा मैत्रा ने ‘राइट टू रिप्लाई’ के तहत इमरान खान के भड़काऊ बयान का जवाब दिया है| विदिशा मैत्रा ने कहा कि इमरान खान ने संयुक्त राष्ट्र के मंच का गलत इस्तेमाल किया है| विदिशा मैत्रा ने कहा इमरान खान ने जो कुछ भी कश्मीर को लेकर बोला वह झूठ है, उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री ने भड़काऊ बयान दिया|

ये भी पढ़े: PAK सरकार के दो मंत्रियों की तस्‍वीर सोशल मीडिया पर हुई वायरल, लोगो नें कुछ इस तरह किया ट्रोल

पाकिस्तान को खरी-खरी सुनाते हुए विदिशा मैत्रा ने कहा, क्या पाकिस्तान इस बात को स्वीकार करेगा कि वो दुनिया का एकमात्र देश है, जो संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित अल-कायदा और अन्य आतंकियों को पेंशन देती है, जिसे संयुक्त राष्ट्र ने अल कायदा और ISIS जैसे आतंकियों की लिस्ट में रखा है|

विदिशा मैत्रा ने कहा, क्या पाकिस्तान इस बात से इनकार कर सकता है, कि आज संयुक्त राष्ट्र द्वारा आतंकी करार दिए गए 130 लोग उसके देश में रहते हैं| क्या पाकिस्तान इससे इनकार कर सकता है, कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतबंधित 25 आतंकी संगठनों का ठिकाना पाकिस्तान है|

विदिशा मैत्रा ने कहा कि पाकिस्तान की पोल खोलते हुए कहा, मानवाधिकार की बात करने वाले पाकिस्तान को सबसे पहले देश में अल्पसंख्यकों की हालत देखनी चाहिए जिनकी संख्या 23 प्रतिशत से 3 प्रतिशत पर पहुंच गया है|

इमरान खान की युद्ध की धमकी पर विदिशा मैत्रा ने कहा, पाकिस्तान के पीएम जिस तरह से न्यूक्लियर हथियारों के इस्तेमाल की धमकी देते हैं, वो एक राजनेता का व्यवहार नहीं है, बल्कि एक छोटे नेता का व्यवहार है| विदिशा मैत्रा ने कहा, ”दुनिया को पाकिस्तान में जाकर देखना चाहिए, पाक आतंकवाद पर और हम विकास पर जोर दे रहे हैं| पाकिस्तान को 1971 के नियाजी का नरसंहार नहीं भूलना चाहिए|”

ये भी पढ़े: सेना प्रमुख बिपिन रावत ने किया बड़ा खुलासा, पाकिस्तान ने बालाकोट में आतंकी लॉन्च पै़ड फिर से किया सक्रिय