ब्याज दरों में हुई इधर कटौती उधर चमक गया सोना, दिल्ली में सबसे अधिक कीमत – जानिए पूरी स्टोरी

अभी जहाँ पहले ही सोनें का दाम काफी ऊंचाई पर था, वहीं अब इसमें और अधिक बढ़ोत्तरी हो गई है | बता दें, कि इस बार इधर ब्याज दरों में कटौती की गई तो दूसरी तरफ सोना काफी लम्बे समय के बाद चमक गया है। इस सोने के बढ़ने के पीछे एक बड़ी वजह सामने आई है, कि अमेरिका-ईरान के बीच बढ़ते तनाव, विभिन्न देशों के साथ अमेरिका की तरफ से जारी व्यापार युद्ध और केंद्रीय बैंकों के नरम रुख ने ही सोने का आकर्षण इतना अधिक बढ़ा दिया है।

इसे भी पढ़े: शेयर बाजार / सेंसेक्स ज़बरदस्त तेजी के साथ छुआ 39571 के रिकॉर्ड स्तर को, निफ्टी भी 11883 के ऊपर

दिल्ली में मंगलवार 25 जून को सोने का भाव 200 रुपये से अधिक बढ़ गया था | यह अब 34,470 रुपये प्रति 10 ग्राम की रेकॉर्ड ऊंचाई को छुआ है। इसके आल्वा मुंबई के फ्यूचर मार्केट में भी सोना की कीमत में बढ़त हुई है, और ट्रेडिंग खत्म होने तक यह 34,588 रुपये प्रति 10 ग्राम पर पहुंच गया है| 

कमोडिटी एक्सचेंज एमसीएक्स पर सोने का रुख 34,700 रुपये प्रति 10 ग्राम रहा है,  जिससे आगे इसमें और बढ़त हो सकती है। कमोडिटी मार्केट्स पर नजर रखने वालो ने अनुमान लगाते हुए बताया है कि, सोने की कीमतें कुछ दिनों के लिए चढ़ने वाली हैं।

मोतीलाल ओसवाल फाइनैंशल सर्विसेज में कमोडिटी हेड किशोर नार्ने ने जानकारी देते हुए बताया है कि, गोल्ड की कीमतें बढ़ने के आसार आगे भी बनेंगे, क्योंकि प्रमुख देशों के केंद्रीय बैंक नीतिगत ब्याज दरों में कटौती का पक्ष ले रहे हैं ताकि कुछ देशों की अर्थव्यवस्था में मंदी के संकेतों से मुकाबला किया जा सके। 

दूसरी तरफ रिलायंस कमोडिटीज के कमोडिटीज हेड प्रीतम कुमार पटनायक कहते हैं कि, अमेरिका, चीन, यूरोप के कुछ देश, इंग्लैंड और भारत जैसी कुछ बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में नीतिगत ब्याज दरों में लगातार कटौती हो रही है। ऐसे में बड़े निवेशक निवेश के लिए सोने का रुख कर रहे हैं। 

नार्ने ने कहा कि सोने का भाव चढ़ने के अन्य कारण दुनियाभर में भू-राजनैतिक तनावों (जियो-पॉलिटिकल टेंशन) में वृद्धि और अमेरिका-चीन के बीच जारी व्यापार युद्ध भी हैं जिन्होंने कुछ बड़े देशों को अपने रिजर्व अमेरिकी डॉलर की जगह सोने के रूप में रखने को प्रेरित किया है।

इसे भी पढ़े: Yes Bank Share: यस बैंक के टूटे शेयर, आयी 13 प्रतिशत तक गिरावट