जम्मू-कश्मीर: पांचवें चरण के मतदान में एक ऐसा गांव जहाँ नहीं पड़ा एक भी वोट, बुरहान वानी का इस गाँव से क्या है कनेक्शन

0
270
सांकेतिक फोटो (इंटरनेट)

जम्मू-कश्मीर की अनंतनाग लोकसभा सीट पर अभी तक का सबसे कम वोट डाले गए है, यहाँ पर शोपियां और पुलवामा जिलों में मात्र 2.81% मतदान हुआ है | हिज्बुल मुजाहिदीन आतंकवादी संगठन के बुरहान वानी को तीन साल पहले एनकाउंटर में मार गिराया गया था जिसके बाद कई राजनीतिक दलों और कई लोगों ने इसका विरोध किया था | इस लोकसभा चुनाव में बुरहान वानी के गांव में एक भी वोट नहीं डाला गया है | 14 फरवरी में पुलवामा के आत्मघाती हमले को अंजाम देने वाले आदिल अहमद डार के गांव में भी केवल 15 वोट पड़ें है |

Advertisement

ये भी पढ़ें: उमर अब्दुल्ला के ‘जम्मू-कश्मीर के लिए अलग PM की मांग’ पर ट्विटर पर भिड़े गौतम गंभीर

वोटिंग प्रतिशत

इस लोकसभा चुनाव में लद्दाख में 63% मतदान हुआ था | पहले चरण के बाद लगातार जम्मू कश्मीर में वोटों का प्रतिशत गिरता जा रहा है | जम्मू कश्मीर कि जनता ने केवल पहले चरण के मतदान में बढ़- चढ़ कर भाग लिया था | जिसके तहत दक्षिण कश्मीर के बारमुला में 35 प्रतिशत और मध्य कश्मीर के श्रीनगर में 14 प्रतिशत मतदान हुआ था | अनंतनाग में 3.63 प्रतिशत, कुलगाम जिले में 10.3 प्रतिशत वोट पड़ें |

आतंकवादी गढ़ में वोट नहीं डाले गए

शोपियां और पुलवामा को आतंकवादी गढ़ माना जाता है | जहाँ पर मतदान के पहले सेना ने तीन आतंकवादियों को मार गिराया था और शक के आधार पर कुछ युवाओं को गिरफ्तार किया गया था | वोटिंग कम होने का कारण इसे ही माना जा रहा है | जानकारी के मुताबिक सोमवार को कई स्थानों पर शांति भंग करने की कोशिश की गयी जिसके लिए तीन पोलिंग बूथों पर ग्रेनेड बम भी फेंके गए थे | शोपियां, वाची और ख्रीयू ऊंचाई पर स्थित है जिस कारण यहाँ पर अच्छी वोटिंग देखने को मिली है |

ये भी पढ़ें: 35A से की छेड़छाड़ को लेकर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती बेहद भड़काऊ बयान

Advertisement