जम्‍मू और श्रीनगर में धारा-144 लागू, मोबाइल और लैंडलाइन सेवाए पूरी तरह बंद

0
587

इन दिनों जम्मू-कश्मीर को लेकर पूरे देश में  उथल-पुथल मची हुई है| वहीं इस बीच कैबिनेट की अहम बैठक शुरू कर दी गई है| इस बैठक के जारी होने से पहले कैबिनेट की सुरक्षा मामलों की समिति की भी बैठक आयोजित की गई है| जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री एस जयशंकर के अलावा साथ-साथ सुरक्षा सलाहकार उपस्थित हुए हैं| वहीं जानकारी देते हुए बता दें कि, कैबिनेट की बैठक से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के घर पर कई मंत्री और बड़े अधिकारियों ने मुलाक़ात करके वार्तालाप की| 

Advertisement

इसे भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर: राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा- राजनीतिक दल अफवाहों पर ध्यान न दे

इसके अलावा आज सोमवार 5 अगस्त को सुबह क़ानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने गृहमंत्री अमित शाह से मुलाक़ात करने पहुंचे| दूसरी तरफ जम्मू-कश्मीर के तीन बड़े नेताओं  पीडीपी की नेता महबूबा मुफ़्ती, नेशनल कॉन्फ़्रेंस के उमर अब्दुल्ला और जम्मू-कश्मीर पीपल्स कॉन्फ़्रेंस के सज्जाद लोन को नज़रबंद  कर दिया गया है|  इसकी जानकारी नेताओं ने ट्वीट कर दी है| वहीं अब  जम्मू और श्रीनगर में में धारा 144 लागू कर दी गई है| अब इस धारा के तहत लोगों की  मोबाइल और लैंडलाइन सेवाए पूरी तरह बंद कर दी गई है|

इन सेवाएं के बंद हो जाने के बाद लोगों का फ़ोन से किसी से भी संपर्क नहीं कर पा रहें हैं, और न ही लैंडलाइन पर किसी से बात हो पा रही है| वहीं  ख़बर है कि, घाटी में मौजूद कुछ अधिकारियों को सैटेलाइट फ़ोन दिए गए हैं जिससे वहां के हालात की जानकारी लगातार केंद्र सरकार को मिलती रहे| यह धारा गृह मंत्रालय के अलर्ट जारी कर घाटी से अमरनाथ यात्रियों और सैलानियों को निकलने की सलाह देने के बाद लागू की गई है| अब इस नियम के लागू होने के बाद यहां पर आए हज़ारों सैलानी और यात्री श्रीनगर से बाहर जा चुके है| 

इसे भी पढ़े: जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आतंकियों ने किया IED ब्लास्ट, सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी

Advertisement