लोकसभा इलेक्शन 2019: मायावती ने पूर्वांचल में ‘सोशल इंजिनियरिंग’ पे चला दांव

लोकसभा इलेक्शन 2019 : लोकसभा चुनाव की तैयारियों के साथ ही रविवार 14 अप्रैल को सुप्रीमो मायावती ने पूर्वांचल की अपनी सभी 16 सीटों पर अपने उम्मीदवारों के नाम घोषित कर दिए। इस सूची में बहुत कुछ आश्चर्य कर देने वाला है | इस बार मायावती ने जौनपुर सीट पर अपना कब्जा बनाकर रखा है वहीं बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के भाई अफजाल अंसारी को और दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में असलहा लहराने वाले आशीष पांडे के भाई और वर्तमान विधायक रितेश पांडे को भी अपना उम्मीदवार बनाया है।

इसे भी पढ़े: चुनाव आयोग ने दिखाए कड़े तेवर: लगाई योगी और मायावती पर कमशः 72 घंटे और 48 घंटे के लिए प्रचार पर रोक

जारी की गई इस लिस्ट के माध्यम से ही बीएसपी ने सोशल इंजिनियरिंग से सब पर दांव चलाने की कोशिश है। इसके अतिरिक्त मायावती ने एक चौथाई सवर्णों को चुनाव मैदान में उतारा हैं और इसके साथ ही अपने तीन पुराने प्रत्याशियों पर दांव भी चला है।

लोकसभा चुनाव के लिए मायावती ने सुल्तानपुर में बीजेपी की मेनका गांधी के खिलाफ चंद्रभद्र सिंह को चुनाव मैदान में उतारा है और वहीं प्रतापगढ़ में इस बार मायावती ने ब्राह्मण प्रत्याशी पर दांव लगाते हुए अशोक कुमार त्रिपाठी को अपना उम्मीदवार बनाया है।

इस बार बीएसपी ने श्रावस्ती से राम शिरोमणि वर्मा को टिकट दिया है। वही डुमरियां गंज से पार्टी ने अपना उम्मीदवार बदलते हुए इस बार यहां पर आफताब आलम को चुनाव के लिए मैदान में उतारा है | वहीं पिछले प्रत्याशी पर दांव लगाते हुए मायावती ने इस बार राम प्रसाद चौधरी को टिकट दिया है। देवरिया से विनोद कुमार जायसवाल को, बांसगांव से सदल प्रसाद को, लालगंज से संगीता को, घोषी से अतुल राय को, सलेमपुर से अध्यक्ष आरएस कुशवाहा को, मछली शहर से टी राम को, भदोही से रंगनाथ मिश्रा को टिकट दिया है |

इसे भी पढ़े: जयाप्रदा ने मायावती से की अपील, बोली – मेरी मदद कीजिए और सपा से समर्थन वापस लें