वर्ल्ड कप 2011 की 10वीं वर्षगांठ पर महेंद्र सिंह धोनी ने बताया, अपने फेवरेट वनडे पारी के बारे में

0
261

महेंद्र सिंह धोनी भारत के सफल कप्तानों में से एक है, इन्होने विश्व कप 2011 जीतने की दसवीं वर्षगांठ पर अपनी पसंदीदा वनडे इनिंग के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि विश्व कप 2011 के फाइनल में श्रीलंका के खिलाफ खेली गई नाबाद 91 रनों की पारी उनकी फेवरेट वनडे पारी है। महेंद्र सिंह धोनी की मुंबई के अगुवाई में वानखेड़े स्टेडियम में भारत ने विश्व कप का खिताब 28 साल बाद अपने नाम किया। भारत के एक प्रमुख गल्फ ऑइल लुब्रिकेंट्स इंडिया लिमिटेड ने धोनी का यह वीडियो अपलोड किया है। उन्होंने अपना नया कैंपेन इस मौके पर लॉन्च किया।

Advertisement

जब फैन ने पूछा IPL ट्रॉफी या 600 करोड़ की मूवी

इस वीडियो में महेंद्र सिंह धोनी ने कहा कि विश्व कप 2011 के फाइनल मैच का एक अलग ही अनुभव का एहसास हुआ था। इस वीडियो में धोनी दो रोल में नजर आ रहे हैं। वो उम्र में अपने से छोटे धोनी जो 2005 के हैं, उनसे बातचीत कर रहे हैं। महेंद्र सिंह धोनी ने पूरे टूर्नामेंट में छठें नंबर पर पर बल्लेबाजी की थी। लेकिन फाइनल मैच में वो खुद को प्रमोट किया और पांचवें नंबर पर खेलने आए थे। उनका ये निर्णय मास्टरस्ट्रोक सिद्ध हुआ। इस मैच में उन्होंने महान ऑफ स्पिनर मुथैया मुरधीरन और सूरज रणदीव को लय में आने नहीं दिया।

धोनी ने अपनी इस पारी में नाबाद 91 रनों की पारी में 8 चौके और दो छक्के जड़े थे। महेंद्र सिंह धोनी ने 49 वें ओवर में श्रीलंका के मध्यम तेज गेंदबाज नुवान कुलसेकरा की गेंद पर सिक्स मारकर भारत को 28 साल बाद वनडे विश्व कप का विजेता दोबारा बनाया था । इस मैच में धोनी को उनकी पारी के लिए प्लेयर ऑफ द मैच भी चुना गया था । भारत ने 275 रन का लक्ष्य उन्ही के पारी की मदद से हासिल किया। इनके अलावा गौतम गंभीर द्वारा 97 रनों की बेहतरीन पारी खेली गयी थी। इस वीडियो में महेंद्र सिंह धोनी ने बताया कि कैसे एक खिलाड़ी को अपने सभी मैच में किस तरह से प्रयास करने और योगदान करने की जरूरत होती है। उन्होंने बताया कि आपका रवैया सभी मैच में अपनी टीम की सफलता के लिए बेहतर योगदान देना चाहिए।

Rocketry Trailer Released:

धोनी नेबताया कि एक बल्लेबाज को अलग-अलग मैच के परिस्थितियों के मुताबिक अपने आप को तैयार करना चाहिए। उन्होंने बताया कि टॉप ऑर्डर और मिडिल ऑर्डर में बल्लेबाजी करना अलग बता होती है। इसके लिए आपको मानसिक तौर पर तैयार होना चाहिए। धोनी ने बताया, “आपको अलग-अलग समस्याओं के लिए भी लगातार अभ्यास करते रहना चाहिए, ताकि आप कठिन परिस्थितियों का सामना कर सकें । भारत को दोबारा विश्व कप जिताने वाले धोनी इस दौरान मुंबई में है और चेन्नई सुपर किंग्स टीम के साथ ट्रेनिंग कर रहे हैं।

Babita Phogat Sister Suicide :

Advertisement