मेनका गांधी का जीवन परिचय (Maneka Gandhi Biography in Hindi) जानिए विस्तार से सब कुछ यहाँ

मेनका गांधी का जीवन परिचय (Maneka Gandhi Biography in Hindi)

मेनका गांधी भारत की जानी मानी नेहरु – गांधी परिवार से संबंध रखने वाली एक प्रमुख सदस्य हैं, जो राजनेता के साथ-साथ एक लेखिका भी हैं| मेनका ने कई विषयों पर किताबें लिखी हैं| ये इस समय मोदी जी की कैबिनेट में महिला एवं बाल विकास विभाग की मंत्री हैं| इनकी शादी संजय गांधी के साथ हुई थी| आप भी जानिये मेनका गांधी के बारे में विस्तार से –

इसे भी पढ़े: बीजेपी की नई 10वीं लिस्ट में वरुण गांधी, मेनका गांधी और जया प्रदा सहित 39 लोगों के नाम शामिल

पूरा नाम मेनका संजय गांधी
जन्म 26 अगस्त, 1956
जन्म स्थान नई दिल्ली
पेशा राजनेता, लेखिका, पशु अधिकार कार्यकर्ता एवं पर्यावरण
राजनीतिक पार्टी भारतीय जनता पार्टी
अन्य राजनीतिक पार्टी से संबंध जनता दल (1988 – 1998) एवं निर्दलीय (1998 – 2004)
राष्ट्रीयता भारतीय
आयु 62 साल
गृहनगर नई दिल्ली
धर्म सिख (शादी से पहले) एवं हिन्दू (शादी के बाद)
जाति ब्राह्मण
वैवाहिक स्थिति विवाहित (अभी विधवा)
राशि कन्या

मेनका गांधी का शुरूआती जीवन (Early Life)

मेनका गांधी का जन्म दिल्ली के रहने वाले एक सिख परिवार में हुआ, इनके पिता भारतीय आर्मी अधिकारी थे और इनके अंकल एक मेजर जनरल थे|  मेनका बचपन से ही मॉडलिंग करने की शौकीन थी| मेनका अपने स्कूल में कई प्रतियोगिताओं में काफी बार हिस्सा भी लिया

मेनका गांधी की शिक्षा (Education)

मेनका सबसे पहले दिल्ली लॉरेंस स्कूल में पढ़ी, इसके बाद की पढ़ाई के लिए वे महिलाओं के लेडी श्री राम कॉलेज में प्रवेश लिया, फिर उन्होंने जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय, नई दिल्ली में जर्मन का अध्ययन किया|

मेनका गांधी का व्यक्तिगत जीवन (Personal Life)

मेनका जी की संजय गांधी जी के साथ पहली मुलाकात सन 1973 में हुई थी, जब वो मेनका के अंकल मेजर जनरल कपूर के बेटे वीनू कपूर की शादी के दौरान एक कॉकटेल पार्टी में आये हुए थे| इससे पहले भी संजय गांधी ने मेनका को एक ब्रीफ स्टिंट मॉडलिंग कांटेस्ट के दौरान भी देखा था, और तभी वो मेनका से प्यार कर बैठे, फिर एक साल बाद संजय गांधी ने मेनका आनंद के साथ सितंबर सन 1974 में शादी कर ली, इसके बाद वे मेनका आनंद से मेनका संजय गांधी कहलाई जाने लगी| इन्होंने सन 1980 में एक बेटे को जन्म दिया, जिसका नाम वरुण गांधी हैं, ये भी राजनीति से संबंध रखते हैं और भारतीय जनता पार्टी के एक राजनेता हैं|

मेनका गाँधी की परिवारिक जानकारी (Family Detail)

1. पिता का नाम स्वर्गीय कर्नल तरलोचन सिंह आनंद
2. माता का नाम अम्तेश्वर आनंद
3. अंकल का नाम मेजर – जनरल कपूर
4. पति का नाम संजय गांधी
5. बेटे का नाम वरुण गांधी
6. सास का नाम इंदिरा गांधी
7. ससुर का नाम फिरोज गांधी
8. जेठ का नाम राजीव गांधी
9. जेठानी का नाम सोनिया गांधी
10. भतीजे का नाम राहुल गांधी
11. भतीजी का नाम प्रियंका गांधी

मेनका गांधी का राजनितिक करियर (Political Career)

मेनका गांधी ने सन 1977 के चुनाव मेंकांग्रेस पार्टीकी हार के बाद कांग्रेस पार्टी के प्रचार में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थीइसके बाद संजय गांधी की अचानक मृत्यु हो गई थी जिसके कारण मेनका को वर्ष 1982 में राजनीति में आना पड़ गया| संजय की मृत्यु के बाद मेनका गांधी परिवार के साथ सारे संबंध तोड़ कर प्रधानमंत्री हाउस से बाहर चली गई और फिर मेनका ने राजनीतिक पार्टी के लिए कार्य करना प्रारम्भ कर दिया|

इसे भी पढ़े: लोकसभा चुनाव : भाजपा ने जारी की स्टार प्रचारकों की सूची, अडवाणी, जोशी, वरुण, मेनिका गाँधी जैसे दिग्गज नामों को नहीं मिली जगह

सन 1988 में ‘संजय विचार मंच’ पार्टी का जनता दल के साथ गठबंधन हुआ और मेनका गांधी को इसके महासचिव के रूप में नियुक्त कर दिया गया था इसके बाद पार्टीने सन 1989 में अपने पहले चुनाव में जीत दर्ज की| तब मेनका को पर्यावरण मंत्री के रूप में नियुक्ति मिली, और सन 1989 से सन 1991 तक वे इसमें काम करती रहीं| 

इसके बाद मेनका ने वर्ष 1996 में एक निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में पीलीभीत से सफलता पूर्वक चुनाव लड़ा, सन 1998 में भी चुनाव में जीत हासिल की| वर्ष 1999 में मेनका ने भारतीय जनता पार्टी का समर्थन किया|

इसके बाद मेनका गांधी सन 2004 में पूरी तरह से भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गई,  फिर उन्होंने पीलीभीत में अपनी जीत हासिल की, जिसमें वे सन 2009 तक कार्यरत रही| इसके बाद मेनका ने ओनला से लोकसभा चुनाव लड़ कर फिर से जीत अपने नाम किया और इस बार उन्होंने सन 2014 तक इसमें कार्य करती रहीं|  मेनका ने सन 2014 में हुए लोकसभा चुनाव में पीलीभीत से ही चुनाव लड़ा और जीत हासिल की|

इसके बाद सन 2014 में जब मोदी सरकार सत्ता में आई, तब मेनका गांधी जी को उनकी केबिनेट में महिला एवं बाल विकास मंत्री के रूप में नियुक्त मिल गई, और तब से अब तक वे इस पद पर काम कर रहीं हैं|

लेखिका के रूप में (As a Writer)

क्र. म. किताबों के नाम
1. द पेंगुइन बुक ऑफ़ हिन्दू नेम्स
2. द कम्पलीट बुक ऑफ़ मुस्लिम एंड पारसी नेम्स
3. द पेंगुइन बुक ऑफ़ हिन्दू नेम्स फॉर गर्ल्स
4. द पेंगुइन बुक ऑफ़ हिन्दू नेम्स फॉर बॉयज
5. ब्रह्मा’स हेयर
6. इन्द्रधनुष एवं अन्य कहानियाँ

मेनका गांधी का अब तक का जीवन एवं राजनीतिक करियर काफी अच्छा होने के साथ-साथ उनके करियर में थोड़ा उतार – चढ़ाव भी रहा है| वहीं अब अनुमान लगाया जा रहा है, कि आगे वे अपने बेहतर कार्य करती रहेंगी और अपनी जीत हासिल करती हुई आगे बढ़ती रहेंगी|

इसे भी पढ़े: पीलीभीत लोकसभा में कितने है मतदाता, किस पार्टी का इस सीट पर रहा है ज्यादा कब्जा