कोरोना नियमों पर मुंबई पुलिस हुई सख्त, मास्क न पहनने पर 2 लाख लोगों से वसूले लगभग 4 करोड़

0
179

पूरे विश्व भर में जमकर कोहराम मचाने के बाद अब एक बार फिर से शुरू हुई कोरोना वायरस की दूसरी लहर लोगों को डराने लगी है। इस समय महाराष्ट्र की स्थिति अन्य राज्यों की तुलना में बेहद ख़राब है। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के पीछे लोगों की लापरवाही भी एक बड़ा कारण माना जा रहा है। ऐसे स्थिति में महाराष्ट्र के प्रशासन को जुर्मानों के साथ कड़ाई भी करना पड़ रहा है। महाराष्ट्र में अब तक, कुल 2,03,000 लोगों से मास्क न लगाने पर जुर्माना वसूला गया है। इस जुर्माने की रकम लगभग 4.06 करोड़ रुपये वसूल किया गया है। यह जानकारी मुंबई पुलिस के पीआरओ की तरफ से मिली है।

Advertisement

इधर, कोरोना वायरस के संक्रमण को तेजी से बढ़ते हुए देख कर भारत सरकार ने वैक्सीनेशन के अभियान को और तेज करने का निर्णय लिया है। 45 साल से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण 1 अप्रैल से किया जायेगा। इसके पश्चात जल्दी ही और लोगों का नंबर आ सकता है| सरकार ने कहा है, कि अब कोरोना वैक्सीन का एक्सपोर्ट नहीं किया जायेगा ताकि तेजी से देश में टीकाकरण आसानी से हो सके। इस मामले की जानकारी रखने वाले सूत्रों ने नाम न बताने की शर्त पर कहा कि एक्सपोर्ट पर किसी भी प्रकार का बैन नहीं होगा, लेकिन अपने घरेलू जरूरतों को पूरा करने के पश्चात ही दूसरे देशों को वैक्सीन की सप्लाई दी जाएगी। एक्सपोर्ट का फैसला भविष्य में टीकों के तेजी से उत्पादन पर भी निर्भर करेगा।

लॉकडाउन की अफवाह पर मजदूरों का पलायन जारी है

एक सूत्र ने कहा, ‘हमने दुनिया भर के देशों को कोरोना वैक्सीन की कॉर्मशियल सप्लाई की है और भविष्य में भी ऐसा करना जारी रखेंगे।’ दूसरे देशों के बीच हुईं सभी कॉमर्शियल डील्स और एक्सपोर्ट कमिटमेंट्स का सम्मान करेंगे। हालाँकि सरकार की प्रथम प्राथमिकता देश में अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन किए जाने की है। भारत में आने वाले समय में वैक्सीन के उत्पादन में बढ़ोतरी होगा। इसके अलावा कुछ और टीकों का बनाये जायेंगे जो इमरजेंसी में इस्तेमाल करने के लिए मंजूरी दी जा सकती है। एक्सपोर्ट के फैसले को लेकर करीब दो महीने बाद सरकार इसके बारे में समीक्षा करेगी।

मुंबई में कोरोना बढ़ा ! 6 दिन में आये 13 हजार मामले

Advertisement