रजनीकांत ने PM मोदी और अमित शाह को बताया ‘कृष्ण तथा अर्जुन’ तो, ओवैसी ने कहा – ‘महाभारत’ चाहते हैं क्या ?

मोदी सरकार द्वारा जम्मू – कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए को भारतीय संविधान से हटाने पर तमिल सुपरस्टार और राजनेता रजनीकांत ने  PM मोदी और अमित शाह को ‘कृष्ण तथा अर्जुन’ बताया है| इसके बाद रजनीकान्त की इस संज्ञा पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन प्रमुख तथा सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने सवाल करते हुए कहा कि, क्या आप देश में एक और ‘महाभारत’ चाहते हैं…?

इसे भी पढ़े: अमित शाह से नोकझोंक के बाद, ओवैसी ने कहा- डराइये मत

वहीं मीडिया एजेंसी के मुताबिक, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ मुखर रहने वाले असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, “तमिलनाडु के एक अभिनेता (रजनीकांत) ने अनुच्छेद 70 हटाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह को ‘कृष्ण तथा अर्जुन’ की संज्ञा दी है… तो इन हालात में कौरव और पांडव कौन हैं…? क्या आप देश में एक और ‘महाभारत’ चाहते हैं…?”

इसके अतिरिक्त असदुद्दीन ओवैसी ने देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और पहले उपप्रधानमंत्री व गृहमंत्री सरदार वल्लभभाई पटेल द्वारा कश्मीर पर किए गए फैसले का समर्थन किया और कहा कि भारतीय जनसंघ के नेता श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने भी अनुच्छेद 370 को स्वीकार किया था| इसी के साथ कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पास सरदार पटेल और पंडित जवाहरलाल नेहरू जैसी राजनैतिक समझ नहीं है… जब उन्होंने कश्मीर पर फैसला किया था, देशहित में किया था… उनका दावा है कि वे श्यामा प्रसाद मुखर्जी का अनुसरण कर रहे हैं, लेकिन वे नहीं जानते कि उन्होंने अनुच्छेद 370 को कबूल किया था…”

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन प्रमुख ने केंद्र सरकार पर सत्ता से प्यार करने का आरोप लगाते हुए कहा, “मैं जानता हूं कि सरकार को कश्मीर से प्यार है, कश्मीरियों से नहीं… मैं जानता हूं, उन्हें ज़मीन से प्यार है, वहां रहने वालों से नहीं… उन्हें सत्ता से प्यार है, इंसाफ से नहीं… वे सिर्फ सत्ता बनाए रखना चाहते हैं… लेकिन मैं उन्हें याद दिलाना चाहूंगा कि कोई भी हमेशा ज़न्दी नहीं रहता, हमेशा राज नहीं करता…”

इसे भी पढ़े: पीएम मोदी के भाषण पर ओवैसी ने कसा तंज – जानिए क्या कहा