उन्नाव रेप पीड़िता एक्सिडेंट मामला: आज होगी सुप्रीम कोर्ट में अहम सुनवाई

0
315

आज 1 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट रेप पीड़िता एक्सिडेंट मामले में अहम सुनवाई करेगा| इस पूरे  मामले पर शीर्ष न्यायालय पहले ही अपना रुख जाहिर कर चुका है। वहीं बुधवार 31 जुलाई को मामले में संज्ञान लेते हुए चीफ जस्टिस रंजन गोगोई ने कहा, पीड़िता द्वारा उन्हें लिखा गया पत्र 17 जुलाई को उनके संज्ञान में क्यों नहीं लाया गया ? 19 साल की रेप पीड़िता ने मुख्य न्यायाधीश को लिखे पत्र में बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के कथित सहयोगियों से अपनी जान का ख़तरा बताया था। इसी के साथ कहा, “दुर्भाग्यवश यह पत्र अभी तक सामने नहीं आया है, लेकिन अखबारों में ऐसी खबरें प्रकाशित हुई हैं, कि जैसे मानो मैंने इसे पढ़ लिया हो।”

Advertisement

इसे भी पढ़े: उन्नाव कांड में आयी प्रारंभिक फरेंसिक जांच रिपोर्ट, ऐक्सिडेंट या साजिश – यहाँ देखें Report की जानकारी  

अब यह मामले काफी आगे बढ़ चुका है, अब इस मामले में एक और बड़ा खुलासा हुआ है, जिसमें एक और बीजेपी नेता का नाम सामने आया है। बता दें कि पीड़िता के चाचा ने जो एफआईआर दर्ज की हैं, उसमें अरुण सिंह का नाम भी दर्ज किया गया है, जो बीजेपी एक कार्यकर्ता हैं और उन्नाव के नवाबगंज कस्बे के ब्लाक प्रमुख हैं। वहीं बताया जा रहा है कि, अरुण सिंह आरोपी विधायक कुलदीप सिंह के सेंगर के करीबी हैं। अरुण सिंह को लोकसभा चुनावों के दौरान भी अमित शाह और बीजेपी सांसद साक्षी महाराज के साथ कई मौकों पर देखा जा चुका है।

उन्नाव रेप पीड़िता एक्सिडेंट कांड में बीजेपी नेता अरुण सिंह यूपी के मंत्री रणवेंद्र प्रताप सिंह उर्फ धुन्नी भैया के दामाद को आरोपी बताया गया हैं। धुन्नी भैया योगी सरकार में कृषि राज्य मंत्री और कृषि शिक्षा एवं शोध मंत्री हैं। सीबीआई की FIR में बताया गया है कि, अरुण सिंह और कुछ अन्य लोग रेप पीड़िता के परिवार को केस वापस लेने के लिए धमकी दे रहे थे|

इसे भी पढ़े: उन्नाव रेप पीड़िता के एक्सिडेंट मामले पर कवि कुमार विश्वास ने किया ट्वीट

Advertisement