पाकिस्तान में हिंदू छात्रा की हत्‍या के विरोध में सड़कों पर प्रदर्शन, ‘नमृता को इंसाफ दो’ की मांग

पाकिस्तान में एक हिन्दू छात्रा की हत्या कर दी गई| यह छात्रा पाकिस्तान के सिंध प्रांत के एक डेंटल कॉलेज में पढ़ती थी, जिसका नाम नमृता चांदनी था| जिसकी हत्‍या को लेकर लोगों में काफी गुस्‍सा देखने को मिला है। गुस्से से भरे लोगों ने मंगलवार 17 सितंबर को इस हत्‍याकांड के जांच और न्‍याय दिए जाने की मांग को लेकर जमकर सड़कों पर प्रदर्शन किया। वहीं विरोध कर रहें लोगों के हाथों में तख्तियां थीं, जिस पर लिखा था ‘नमृता को इंसाफ दो’, बर्दाश्‍त नहीं करेंगे गुंडागर्दी… प्रदर्शनकारी क्षेत्र में बेहतर कानून व्‍यवस्‍था कायम करने की मांग कर रहे थे।

इसे भी पढ़े: JNU की पूर्व छात्रा शेहला रशीद को दिल्ली की कोर्ट से बड़ी राहत, देशद्रोह का मामला है दर्ज

जानकारी देते हुए बता दें कि, लरकाना में बैचलर ऑफ डेंटल सर्जरी की फाइनल ईयर की छात्रा नमृता चांदनी हॉस्टल के कमरे में मृत ही पड़ी पाई गई थी। नमृता की गर्दन में रस्सी कसी हुई मिली थी। वहीं नम्रता के परिवार के लोग इसे हत्‍या मान रहे हैं, लेकिन कॉलेज प्रशासन इससे साफ इनकार करते हुए इसे आत्महत्या घोषित करने में लगा हुआ है। वहीं पुलिस प्रशासन को घटनास्थल से ऐसे सबूत हासिल हुए जिससे साफ मालूम चल रहा है, कि उसने अपनी जान बचाने के लिए काफी संघर्ष किया था।  

बताया जाता है कि, लड़की का शव रस्सी से लटकने के बजाय बिस्तर पर पड़ा था। इससे अनुमान लगाया जा रहा है कि, यदि लड़की ने आत्महत्या की है, तो उसका शव रस्सी से लटकने के बजाय बिस्तर पर क्यों पड़ा था। मृत लड़की का फोन भी उसके पास मौजूद नहीं था जिसे बाद में पुलिस ने बरामद किया है। इसको लेकर भी लोगों के मन में काफी सवाल उठ रहें हैं|

इसे भी पढ़े: JNU की पूर्व छात्रा शेहला रशीद पर देशद्रोह का केस दर्ज, सेना के खिलाफ झूठी बयानबाजी का आरोप