हज यात्रा के किराए में कितनी हुई बढ़ोत्तरी यहाँ से जाने सारी जानकारी

हज के मुकददस सफर पर जाने वाले यारत्रियों की जाने का किराया बढ़ा दिया गया| इस बढ़ते हुए किराए के तहत इस बार हज वाले यात्रियों को कैटेगरी के मुताबिक पिछली बार की अपेक्षा अधिक  रूपये खर्च करने होंगे। हज कमेटी ऑफ इंडिया की तरफ से जारी किये गए सर्कलूर में इस बार हज का किराया और अधिक कर दिया गया है।

लगभग हज यात्री लखनऊ, दिल्ली और वाराणसी से जाते है। इस बार लखनऊ से जाने वाले ग्रीन कैटेगरी के यात्रियों को 2,90,850 रुपये और अजीजिया श्रेणी में दो लाख 53 हजार 800 रूपये देने होंगे और यह राशि जमा करने की आख़िरी तारीख 20 जून निर्धारित कर दी गई है।

इसे भी पढ़े: Ramadan 2019: सहरी-इफ्तार में ये खाए तो बनी रहेगी पूरे दिन उर्जा

यदि हम पिछली बार की बात करें, तो पिछली बार 2018 में हज पर जाने वाले हज यात्रियों को ग्रीन कैटेगरी में 2,60,100 रुपये व अजीजिया में 2,25,950 रुपये देने पड़े थे।  पिछले साल के मुकाबले लखनऊ से जाने वाले हज यात्रियों को 30 हजार 750 रूपये अतिरिक्त देने पड़ेंगे । स्टेट हज कमेटी के सचिव विनीत कुमार श्रीवास्तव ने जानकारी देते हुए बताया है, कि रिपीटर हज यात्री जो पहले हज कर चुके हैं, उनको 37,340 रुपये अतिरिक्त जमा करने होंगे।

इसके अलावा यदि बड़ों के साथ बच्चे भी हज यात्रा पर जाते हैं, तो उनका खर्च अलग से जमा करना रहेगा|  हज पर दो वर्ष या उससे कम के जाने वाले बच्चों पर लखनऊ से 13,050 रुपये जमा, दिल्ली से 12,800 वाराणसी से 15,900 रुपये जमा करने रहेंगे| वहीं पिछल वर्ष हज यात्रा में बच्चों के  लखनऊ से 11,450, दिल्ली से 10,200 व वाराणसी से 14,600 रुपये जमा हुए थे।

अंतिम किश्त की राशि

हज कमेटी ऑफ इंडिया मुंबई की तरफ से जारी सर्कलुर केमुताबिक चयनित हज यात्रियों को तीसरी किश्त में बढ़ी हुई रकम भी साथ में जमा करनी रहेगी |

ग्रीन कैटैगरी

लखनऊ – 89850 रुपये

दिल्ली- 77650 रुपये

वाराणसी- 96750 रुपये

अजीजिया कैटेगरी में

लखनऊ – 52800 रुपये

दिल्ली- 40600 रुपये

वाराणसी- 59700 रुपये

कुल हज यात्रा का खर्च

ग्रीन केटेगरी में

लखनऊ- 2,90,850 रुपये

दिल्ली – 2,78,650 रुपये

वाराणसी – 2,97,750रुपये

अजीजिया

लखनऊ- 2,53,800 रुपये

दिल्ली – 2,41,600 रुपये

वाराणसी- 2,60,700 रुपये

कुर्बानी के लिए  9,150 रुपये निर्धारित

हज यात्रा का आवेदन भरते समय जिन यात्रियों ने कुर्बानी का विकल्प हज कमेटी के माध्यम से चुन लिया  है, उन्हें हज यात्रा के दौरान कुर्र्बानी के लिए हज किराये के साथ-साथ 9,150 रुपये और दने पड़ेंगे | वहीं   हज कमेटी ऑफ इंडिया ने ऐसी महिलाओं से आवेदन मांगे थे, जिनके परिवारीजन हज यात्रा पर जा रहे हैं, लेकिन उनका आवेदन पासपोर्ट  ना हो पाने से नहीं हो पाया था | देश भर से हज कमेटी ने इसके लिए  500 सीटें निर्धारित की थीं। प्रदेश को इस कोटे के 49 सीटें प्राप्त हुई हैं। वहीं सर्वाधिक 81 सीटें महाराष्ट्र के खाते में गयी हैं। मेहरम कोटे के लिए लॉटरी के माध्यम से चयन हुआ है |

एनसीएनटीजेड आवेदकों की कैटेगरी में संशोधन

हज यात्रा के दौरान सऊदी अरब के पवित्र मक्का और मदीना शहर में एनसीएनटीजेड कैटेगरी के मिलने वाले  आवास उपलब्ध न होने के कारण हज कमेटी ने 11929 आवेदकों की कैटेगरी में में बदलाव करके अजीजिया कर कर दिया है। यदि आवेदक श्रेणी की स्थिति पता करना चाहते हैं तो हज कमेटी ऑफ इंडिया की वेबसाइट www.hajcommittee.gov.in पर जाकर मालूम कर सकते हैं |

इसे भी पढ़े: Ramadan 2019: कब से शुरू होंगे रमजान, इस पूरे महीने में क्या करना होता है