लंबी आयु चाहते हैं तो शुरू कर दें ‘एंटी एजिंग फूड्स’, यहाँ जानिए पूरी बात

आयुर्वेद में बताया गया है कि, जीवेत: शरद: शतम्। यह सौ साल तक जीने की चाहत भी है, आशीर्वाद भी। सच भी है सभी लंबी आयु चाहते हैं, मगर उम्र के साथ आने वाली बीमारियां और कमजोरियां छीन लेती हैं। उम्र बढ़ने के साथ शारीरिक परिवर्तन होना स्वाभाविक है। प्रकृति द्वारा प्रदत्त कुछ आहार उम्र बढ़ने के लक्षण अर्थात एजिंग की प्रक्रिया को धीमा कर सकते हैं, इसलिए यदि आप लम्बी आयु चाहते है, तो अपनी डाइट में ‘एंटी एजिंग फूड्स शुरू कर दें|

इसे भी पढ़े: शाम को व्यायाम करना भी सेहत के लिए फायदेमंद है, जानिए क्या कहती है ये नई रिसर्च

कैंसर से लड़ता यह ब्रोकोली फूड्स 

इस फूड्स में बीटा कैरोटीन और आइसोथियोसायनेट नामक पोषक तत्व मौजूद होते हैं। इस कारण ब्रोकोली कैंसर की रोकथाम में सहायक साबित होता है, और इसके साथ ही यह एंटीएजिंग की प्रक्रिया में भी सहायक होता है।

इम्यूनिटी बढ़ाएं नींबू-संतरा  

जिन फूड्स में विटामिन सी पायी जाती हो वो फल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का काम करते हैं। एलर्जी से बचाव तथा त्वचा में कसाव लाने के लिए संतरा, मौसमी, नींबू आदि विटामिन सी के उत्तम स्रोत माने जाते हैं। इनमें बायोफ्लेवोनॉइड और लाइमोनीन भी  मौजूद रहता है। एंटीऑक्सीडेंट्स की उपस्थिति के कारण ये कैंसर उत्पन्न करने वाले तत्वों से लड़ने  में भी सहायक होती है|

अनार  

एनीमिया अर्थात शरीर में खून की कमी होने पर रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में अनार का जूस काफी फायदेमंद साबित होता है। इसमें पाए जाने वाले सूक्ष्म पोषक तत्व शरीर के आंतरिक अंगों को सशक्त बनाए रखने में मदद करता है|

स्वस्थ्य त्वचा के लिए अंकुरित अनाज

बढ़ती उम्र की प्रक्रिया की गति को कम करने के लिए अंकुरित अनाज का इस्तेमाल करना काफी फायदेमंद होता है, क्योंकि अंकुरित अनाज का सेवन करनें से रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है और कई प्रकार के रोगों से बचाव होता है। इसके साथ ही इसके सेवन से त्वचा में कसाव भी आ जाता है|

 ग्रीन टी  

ग्रीन टी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट्स पायी जाती है। यह कई प्रकार से लाभ पहुंचाने का काम करती है। वसा पर प्रभाव डालने के कारण इससे वजन भी काफी कम होता है| इसके अलावा ग्रीन टी के प्रयोग से बालों का गिरना भी कम हो जाता है। ग्रीन टी के इस्तेमाल से ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में भी मदद मिलती है। यह कोलेस्ट्रॉल को भी संतुलित अवस्था में रखता है।  

ओट्स पेट साफ रखने में सहायक 

इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर मौजूद रहता है। इस कारण जो लोग कब्ज की समस्या से ग्रस्त हैं, उनकी समस्या खत्म हो जाती है, और उनका पाचन तंत्र बिलकुल सही हो जाता है। इसमें बीटाग्लूकेन्स की उपस्थिति कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में भी मददगार साबित होती है।

हाई ब्लडप्रेशर मिटाए लहसुन  

लहसुन में भी कई गुण पाए जाते है। इसके सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इसकी वजह से व्यक्ति को कई रोगों से छुटकारा मिलता है। लहसुन हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी सहायक होता है। यह एंटीएजिंग प्रक्रिया में भी मदद करता है|

इसे भी पढ़े: तनाव से रहना चाहते है दूर, तो डाइट में शामिल करें ये सुपर फूड