कम सोने से हो सकती है दिल की ये बीमारी, कैसे बचे इससे – पढ़ें पूरी जानकारी

0
345

वर्तमान समय में बहुत से लोग ऐसे है, जो काम की भाग दौड़ में अपनी नींद भी पूरी नहीं लेते हैं| ऐसा करनें वाले लोगो को आगे चलकर एक बड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है| हाल ही में किये गये एक शोध से यह पता चला है,कि कम सोने से आपको दिल की बीमारी हो सकती हैं, तो इसलिए जान लीजिये कि इस बीमारी से कैसे बच सकते है?

Advertisement

इसे भी पढ़े: खुलकर हंसने से आपके जीवन में आ सकते है ये बड़े बदलाव, नही आएगा दिल का दौरा

जानकारी देते हुए बता दें, कि जो लोग हर रात अपनी 7 घंटे नहीं लेते  हैं, वे अपने दिल को बीमार करने का खतरा मोल रहे है| यह बात एक शोध में सामने आई है| शोधकर्ताओं के अनुसार, जो लोग सात घंटे से कम नींद लेते हैं, उनमें दिल की बीमारी (सीवीडी) और कोरोनरी हृदय रोग विकसित होने की संभावना अधिक रहती है|

पत्रिका एक्सपेरिमेंटल फिजियोलॉजी में प्रकाशित निष्कर्ष ने जानकारी देते हुए बताया है कि, वे लोग जो प्रति रात सात घंटे से कम सोते हैं, उनके शरीर के तीन नियामकों या माइक्रोआरएनए का रक्त स्तर निम्न होता है| माइक्रोआरएनए जीन अभिव्यक्ति को प्रभावित करते हैं और संवहनी के स्वास्थ्य को बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं| अमेरिका में कोलोराडो विश्वविद्यालय के प्रोफेसर क्रिस्टोफर डेसूजा ने कहा, “यह शोध एक नए संभावित तंत्र की ओर इशारा करता है, जिसके अनुसार नींद दिल के स्वास्थ्य और समग्र शरीर क्रिया विज्ञान को प्रभावित करती है|”

शोध में 44 से 62 आयु समूह के अलग-अलग लोगों (महिलाएं व पुरुष दोनों) का शोधकर्ताओं ने नमूना लिया, जिसमें नींद संबंधी उनकी आदतों के बारे में उनसे एक प्रश्नावली पूर्ण कराई गई है| आधे प्रतिभागी रात में सात से 8.5 घंटे सोते थे, शेष आधे लोग हर रात पांच से 6.8 घंटे सोने वाले में शामिल थे|

अनुसंधान टीम ने पहले से संवहनी के स्वास्थ्य से जुड़े नौ माइक्रोआरएनए की अभिव्यक्ति को माप लिया, जिसमें उन्होंने पाया कि अपर्याप्त नींद लेने वाले लोगों में एमआईआर-125ए, एमआईआर-126, और एमआईआर-14एकी मात्रा पर्याप्त नींद लेने वाले लोगों की तुलना में 40 से 60 प्रतिशत कम थी|

इसे भी पढ़े: क्या HIV/AIDS वायरस खाने के जरिये भी फैलता है -जानिए यहाँ

Advertisement