पूर्व कश्मीरी विधायक राशिद को NIA ने किया गिरफ्तार, आतंकी गतिविधियों के लिए धन मुहैया कराने का आरोप

उत्तर कश्मीर में लंगेट विधानसभा सीट के पूर्व विधायक राशिद अपने विवादित और भारत विरोधी बयानों के लिए अक्सर सुर्खियों बने रहते हैं। वहीं आज शनिवार 10 अगस्त को विधायक शेख अब्दुल रशीद उर्फ इंजीनियर रशीद को राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने घाटी में टेरर फंडिग मामले में गिरफ्तार कर लिया है। इससे पहले एनआईए ने राशिद से 2017 में भी पूछताछ की थी| इसके बाद इसी हफ्ते की शुरुआत में उन्हें फिर से तलब कर दिया गया था। वहीं खबरों मुताबिक, राशिद एनआईए के सवालों का संतोषजनक जवाब नहीं दे सके जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार किया गया।

इसे भी पढ़े: अनुच्छेद 370 : जम्मू कश्मीर में हटाई गई धारा 144, आज से खुले सभी स्कूल-कॉलेज

साल 2017 में एनआईए ने खुलासा किया था कि, कश्मीर में अस्थिरता फैलाने और आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी इंटर-सर्विसेज इंटेलीजेंस (आईएसआई) से पैसे लिए थे। राशिद को ये पैसे पाकिस्तानी सेना के ब्रिगेडियरों द्वारा प्रभावशाली व्‍यवसायी जहूर वटाली के माध्यम से भेजे गए थे, और इसके लिए दुबई स्थित फर्जी कंपनियों का इस्‍तेमाल किया गया था। फर्जी कंपनियों के जरिये ये रकम संयुक्‍त अरब अमीरात के बैंक में डाले गए।

राशिद ने इससे पहले 2016 में भाजपा नेता के एक नेता को धमकी देते हुए कहा था कि, यदि उसने अपना मुंह बंद नहीं रखा तो उसे आतंकवादी संगठन लश्कर ए तैयबा के हवाले कर दिया जाएगा। राशिद अपने इन्ही बयानों की वजह से अक्सर सुर्ख़ियों में बने रहते हैं|

इसे भी पढ़े: अनुच्छेद 371: देश के इन राज्यों के पास है विशेष दर्जा, यहां नहीं खरीद सकते जमीन