प्रयागराज में है ऐसा भी परिवार जिसमें 82 सदस्‍य और 66 वोटर हैं, साथ रहता भी है और वोट भी जरूर देता है

0
333

परिवार तो सभी लोगों के रहते हैं, लेकिन क्या आपने कभी ऐसे परिवार के बारे में सुना या देखा होगा कि जिसके परिवार में 10-20 सदस्य नहीं बल्कि पूरे 82 सदस्य हैं| बता दें, कि प्रयागराज में एक ऐसा परिवार हैं, जिसमें 82 सदस्य हैं और उनमें से 66 वोटर हैं | यह पूरा परिवार एक साथ रहता है| इनमें जो सस्दय मतदान करने वाले होते हैं, बूथ केंद्र पहुंचकर अपना वोट जरूर डालते हैं |

Advertisement

इसे भी पढ़े: BJP ने जारी किया राजीव गांधी का सिख दंगों का वीडियो

वहीं जब इलाहाबाद में चुनाव होता है, तो हर एक उम्मीदवार अपनी जीत हासिल करने के लिए भरैचा गांव के राम नरेश भारतीय के घर जरूर जाते हैं क्योंकि यह ऐसा परिवार जहाँ एक साथ ढेर सारी वोटें मिलती हैं | राम नरेश का 82 सदस्य वाला यह परिवार इलाहाबाद के क्षेत्र में सबसे बड़ा है।

जबकि राम नरेश की उम्र 98 साल हो चुकी है और गर्व बताते हैं कि , ‘मेरे परिवार में 82 सदस्य हैं। इस बार इस परिवार से  66 लोग अपना मतदान करने के लिए जाएंगे | वहीं  इनमें से कुछ सदस्य ऐसे भी हैं, जो पहली बार वोट डालने जाएंगे|  इस परिवार के सारे सदस्य एक साथ दोपहर का खाना  खाने के बाद वोट डालने जाते हैं। पास के ही प्राइमरी स्‍कूल में पोलिंग बूथ है।’

राम नरेश के पोते विपिन इन चुनावों में पहली बार अपना मतदान करेंगे जिसके लिए वो काफी अधिक खुश हैं |  वह कहते हैं, ‘मैं और मेरे चचेरे भाई हमारे परिवार से कॉलेज जाने वाले पहले सदस्य हैं।’ विपिन के चाचा यानि राम नरेश के बेटे राम हृदय बताते हैं, ‘परिवार के दो सदस्‍य मुंबई की प्राइवेट कंपनी में काम करते है, लेकिन वोट डालने के लिए वे भी आ रहे हैं। वोट डालना घर वापसी की एक अहम वजह है।’

राम नरेश के घर जब भी कोई नेता वोट मांगने के लिए जाता है, तो परिवार के सदस्‍य अपनी समस्‍याएं बताते हैं लेकिन अभी तक इसके लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है |  वहीं राम नरेश के भतीजे राम शंकर कहते हैं, ‘हम पक्‍का मकान बनाना चाहते हैं लेकिन हाई टेंशन तार हमारे रास्‍ते में आ रहे हैं। हमने इन्‍हें दूसरी जगह हटाने के लिए अर्जी दी है लेकिन अभी तक हमारी बात नहीं सुनी गई। इसके बावजूद हमने वोट डालने का फैसला किया है, ताकि नए जनप्रतिनिधि तक हम अपनी बात पहुंचा सकें।’

इसे भी पढ़े: मनीष सिसोदिया ने गौतम गंभीर को कहा – तेरी हिम्मत कैसे हुई, झूठा इल्ज़ाम CM पर लगाने की?

Advertisement