PMC घोटाले में राकेश वधावन सहित इन लोगो की बढ़ी हिरासत, यहाँ पढ़े पूरी खबर

महाराष्ट्र कोऑपरेटिव बैंक (PMC) घोटाले में आरोपी पूर्व चेयरमैन राकेश वधावन और उनके बेटे सारंग वधावन और वरयाम सिंह की हिरासत 16 अक्टूबर तक बढ़ा दी गई है। इससे पहले भी कोर्ट में सुनवाई के दौरान इनकी हिरासत बढ़ाई गई थी। पीएमसी घोटले के आरोपियों की आज एस्पलेनेड अदालत में पेशी थी, जहां अदालत ने यह निर्णय दिया है। आज सुबह पीएमसी बैंक के जमाकर्ताओं ने एस्पलेनेड अदालत के सामने विरोध प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों की मांग की, कि इस बैंक घोटाले के आरोपी सारंग और राकेश वधावन को जमानत नहीं दी जाए।

ये भी पढ़े: कश्मीर में आज से पोस्टपेड मोबाइल सेवाएं आज से होंगी बहाल, 5 अगस्त से इंटरनेट सेवाएं थी बंद  

पीएमसी केस की सुनवाई के दौरान जांच अधिकारियों ने अदालत को सूचित किया, कि वह हर दिन नए सबूतों का पता लगा रहे हैं और बैंक धोखाधड़ी में प्रमुख अभियुक्तों से अधिक जानकारी निकालने के लिए उन्हें थोड़े और समय की जरूरत है। इससे पहले पता चला कि पंजाब एंड महाराष्ट्र बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी और एचडीआईएल के मालिक सारंग व राकेश वधावन के पास 2100 एकड़ की जमीन भी है, जिसकी बाजार में 3500 करोड़ रुपये की कीमत बताई गई है। अब प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) इस जमीन को जब्त करने जा रहा है। यह जमीन वासई-पालघर के सात अलग-अलग गांवों में स्थित है।

इस जमीन को कई साल पहले राकेश और सांरग ने टाउनशिप बनाने के लिए खरीदा था, लेकिन यहां पर काम कभी शुरू नहीं हुआ। इन खाली प्लॉट पर किसी तरह का कोई अतिक्रमण नहीं है। मीडिया से प्राप्त जानकारी के अनुसार, ईडी फिलहाल दस्तावेज की जांच कर रहा है, जिसमें यह पता लगाया जा रहा है, कि यह जमीन वधावन के नाम खरीदी गई थी, या फिर एचडीआईएल के नाम से।

ये भी पढ़े:  NIA ने किया बड़ा खुलासा, भारत में जमात-उल-मुजाहिद्दीन बांग्‍लादेश ने बढ़ाई गतिविधियां