रामायण की ये 4 बातें अगर जान लेंगे तो आप बच जायेंगे बहुत बड़े नुकसान से

सनातन धर्म के धर्मग्रंथ, वेद, उपनिषद  में हमें जीवन के साथ-साथ जीवन जीने की कला भी सिखाते हैं। इन्‍हीं में से एक महाकाव्‍य ‘रामायण’में एक चौपाई में वर्णन किया गया है, कि जीवन में किन चार लोगों से बचकर रहना चाहिए ?  अगर आप रामायण की ये चार बातें जान लेंगे तो आप बहुत बड़े नुक्सान से बच सकते हैं|

इसे भी पढ़े: आज है साल का पहला गुरु पुष्य योग, सोना खरीदने और निवेश करने के लिए आज का दिन है बेहद शुभ

मूर्ख सेवक से बनाकर रखे दूरी  

सेवक सठ नृप कृपन कुनारी।

कपटी मित्र सूल सम चारी।।

रामायण की इस चौपाई के जरिये मनुष्य को यह समझाया गया है, कि मूर्ख सेवक से हमेशा दूरी बनाकर रखें क्योंकि इनसे आपको क्षति पहुंच सकती हैं। बता दें, कि मूर्ख व्यक्ति पर कभी भी भरोसा नहीं किया जा सकता है| वो आपकी बातों कभी भी और कहीं भी कह सकते हैं| उनके ऐसा करने से आपको भारी नुक्सान का सामना करना पड़ सकता है, इसलिए ऐसे लोगों से हमेशा दूर रहें|

कंजूस राजा से रहे दूर  

रामायण में बताया गया है कि कंजूस राजा से दूर रहें, क्योंकि जो लोग कंजूस होते हैं और उनके पास धन अधिक इसके बावजूद भी ऐसे लोग परेशानी में भी धन को खर्च करने में काफी पीछे रहते हैं| इसलिए ऐसे लोगों से भी हमेशा दूरी बनाकर रखना चाहिए| कंजूस व्‍यक्ति के ऐसा करने से उनके सामने काफी बड़ी मुसीबत खड़ी हो जाती हैं|  इसके अलावा ऐसे मनुष्य अपने पैसे बचाने के लिए आपको नुक्सान भी पहुंचा सकते है|

ऐसी स्त्रियों से दूर रहें

ऐसी स्त्रियों से हमेशा दूर रहना चाहिए जो अपने कुल की मर्यादा और सम्मान का ख्याल न रखते हुए सभी कार्य अपने मन के करती हैं, क्योंकि ऐसी स्त्रियाँ सिर्फ अपने ही बारे में सोचती हैं|   

धोखेबाज मित्रो से बचे  

जीवन दोस्ती सभी लोग करते हैं और सभी के मित्र भी होते हैं लेकिन आपको हमेशा ऐसे मित्र से दूर रहना जो आपके साथ आपकी मुसीबत नहीं खड़े होते हैं क्योंकि ऐसे मित्र आपकी मदद करने की जगह आपको और बड़ी मुसी बात में दाल सकते हैं, इसलिए हमेशा सच्चे लोगों से मित्रता करनी चाहिए|   

इसे भी पढ़े: जानिए आदिगुरु शंकराचार्य को, मां के स्नान के लिए मोड़ दी नदी की दिशा ऐसे थे शंकराचार्य