आ रहा है रामायण दूरदर्शन पर दोबारा- क्या पहले की तरह होगा पॉपुलर

बहुत दिनों से लोग मांग कर रहे हैं कि दूरदर्शन पर रामायण को दोबारा प्रसारण किया जाए । अब सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने कहा है कि 28 मार्च 2020 से रामानंद सागर के सीरियल रामायण को दूरदर्शन पर एक बार फिर से प्रसारण किया जाएगा । जबकि इस बात पर संदेह है कि ये पहले की तरह दर्शकों के दिलो-दिमाग पर छा पायेगें की नहीं |

पूरे देश के लॉकडाउन के चलते नवरात्रि में पहली बार बंद हुए हिमाचल प्रदेश के सभी

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने ट्वीट के द्वारा बताया है कि सीरियल का पहला एपिसोड सुबह के 9 बजे और दूसरा एपिसोड रात के 9 बजे प्रसारित किया जाएगा । परन्तु लोगो के मन में यह सवाल उठता है कि क्या यह सीरियल लोगों के मन में पहले जैसा जादू कर पायेगी या नहीं ? रामायण का टेलिकास्ट दूरदर्शन पर 25 जनवरी 1987 में आरम्भ किया गया था। उस समय यह टीवी पर प्रसारित होने वाला पहला मेगा सीरियल था । उस दौरान दूरदर्शन भारत में चलने वाला एक ही टेलिविजन चैनल था । परन्तु अब जमाना बदल चुका है । आज के समय में हजारों टीवी चैनल्‍स के होते हुए भी अब लोग इंटरनेट टीवी और ओटीटी प्‍लेटफॉर्म्‍स के फैन है।

भैया दूज क्यों मनाया जाता है

उस समय में भारत के प्रत्येक घरों में टेलिविजन नहीं रहता था । जिस समय रामायण-महाभारत का प्रसारण आता था तो मोहल्ले के सभी लोग उस घर पर आ जाते थे जिस घर में टीवी रहता था । उस दौरान रामायण का लोगों के जहन में जादू आप इसे ऐसा समझ सकते हैं कि जब इसके प्रसारण का समय होता था तो उस दौरान लोग सड़को पर लाइन लगा कर बैठते थे । यह पहला मौका था उन लोगों के लिए जब वो लोग अपने आराध्य देवों को टीवी पर देख रहे थे, इसलिए इस सीरियल को देखने के बाद लोग भावुक भी हो जाते थे । उस समय में दूरदर्शन का ऐसा भौकाल था कि समाज में केवल हिंदू ही नहीं बल्कि मुस्लिम, सिख, ईसाई सभी धर्मों के लोगों ने इस प्रसारण को देखा था |

लॉकडाउन क्या होता है, आखिर क्यों किया जाता है – जाने सब कुछ यहाँ