Vaastu Tips For Money: इन वास्तुदोष से बचें और लायें धन की बरकत और खुशहाली

0
105

आपने अक्सर देखा होगा कि काफी लोग धन की कमाई तो बहुत अधिक कर लेते हैं लेकिन, उनके पास धन एकत्र बहुत कम हो पाता है जिससे वे काफी कमाई करने के बावजूद भी परेशान रहते हैं, और ऐसे लोग अक्सर यही सोचते रहते है, कि पैसे कमाने के बावजूद भी धन क्यों नहीं एकत्र हो पाता है ?

Advertisement

ये भी पढ़ें: किस देवी – देवता को कौन से फूल करें अर्पण

कमाया हुआ धन का न रुकना, ये आपके घर पर वास्तुदोष की वजह से भी हो सकता हैं,  इसलिए आप इन वास्तुदोष से बचें और घर में बरकत और खुशहाली लायें क्योंकि, अगर आपके घर में बरकत नहीं हो रही है, तो इससे घर की खुशहाली भी गायब हो जाती है, इसलिए जाने वास्तुदोष के बारे में –

इन वास्तुदोष से बचें

1.आपको अपने घर में पैसे बचाकर रखना है, तो आपको सबसे पहले अपने घर के भगवान के स्थान पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि, अगर आपके घर में भगवान के स्थान पर गंदगी है तो आपके घर में पैसे की बढ़ोत्तरी बहुत कम होगी  

2.अगर आपके यहाँ कमाई के बावजूद भी धन की कमी है तो आपको अपने घरों के नलों पर ध्यान रखना है कि आपके घर के नलों से पानी लगातार न गिरे और ना ही आपके नल की पाइप लाइन लीक रहे क्योंकि, इससे भी महालक्ष्मी रूठ जाती हैं और आपके घर में धन की कमी होने लगती है

3.यदि आपके घर का मुख्य द्वार दक्षिण दिशा में बना हुआ है, तो इससे भी आपके घर में हमेशा परेशानियों का आवागमन होता रहता है,  इसके अतिरिक्त यदि आपके मुख्य द्वार का गेट पूरी तरह से नहीं खुलता है, तो इस वास्तुदोष से भी आपको धन की कमी बनी रहेगी 

4.वास्तु के मुताबिक, आप जब भी अपने घर का निर्माण करवाएं तो हमेशा याद रखें कि आपके घर की ढलान उत्तरपूर्व में ऊंची न रहें क्योंकि, ऐसा होने सेआपके घर में धन आने में परेशानी हो सकती है   

5.वास्तुशास्त्र में माना जाता है, कि बेडरूम के गेट के सामने वाली दीवार का बायां कोना भाग्य और संपत्ति का क्षेत्र रहता है, इसलिए इस कोने पर धातु की कोई चीज लटकाकर जरुर रखें ताकि आपके घर में धन की कमी न रहें |

6.यदि आपको हमेशा घर में धन रोककर रखना है, तो आपको धन रखने वाले स्थान पर अवश्य ध्यान देना चाहिए | आप हमेशा याद रखें कि आप अपना धन जिस तिजोरी में रख रहें है उस तिजोरी का मुंह उत्तर की ओर है, की नहीं,  यदि ऐसा है, तो आपके पास धन की कमी नहीं होगी |

ये भी पढ़ें: शनिवार को जूते–चप्पल क्यों नहीं खरीदे जाते

Advertisement