नामांकन रद्द मामला: तेज बहादुर की अपील पर अब कल होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

0
354

तेज बहादुर यादव बीएसएफ के पूर्व जवान है जिन्होंने सेना में खाने की शिकायत को सोशल मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक किया था जिसके बाद उन पर विभागीय कार्यवाही के बाद बर्खास्त कर दिया गया था | इसके बाद इन्होंने वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ने की घोषणा की थी |

Advertisement

अपडेट 08 मई 2019 : वाराणसी से तेज बहादुर का नामांकन रद्द होने की शिकायत पर सुप्रीम कोर्ट ने चुनाव आयोग से जवाब मांगा है। इस मामले पर कल सुनवाई होगी। बता दें कि तेज बहादुर यादव ने निर्वाचन आयोग के उस फैसले को उच्चतम न्यायालय में चुनौती दी थी जिसमें वाराणसी लोकसभा सीट से उसकी उम्मीदवारी रद्द कर दी गई थी। वाराणसी लोकसभा सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनाव लड़ रहे हैं।

ये भी पढ़ें: नामांकन फार्म (Nomination Form) किसे कहते है ?

अभी कुछ दिन पहले ही तेज बहादुर ने निर्वाचन आयोग के समक्ष अपना नामांकन दाखिल किया था जिसके बाद इनका नामांकन रद्द कर दिया गया था | नामांकन रद्द होने के बाद इन्होंने इसकी अपील सुप्रीम कोर्ट में की थी आज इस केस की सुनवाई होनी है |

जानकारी के लिये बता दे कि तेज बहादुर यादव द्वारा जो नामांकन दाखिल किया गया था उसमें बर्खास्तगी से सम्बंधित दो अलग-अलग जानकारी सामने आई थी | निर्वाचन आयोग ने इसके लिए 24 घंटे के अंदर अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) लेकर जवाब देने को कहा था |

निर्वाचन आयोग द्वारा जारी नोटिस में यह स्पष्ट किया गया था वह बीएसएफ से एनओसी लेकर आएं जिसमें नौकरी से बर्खास्त करने का कारण दिया गया हो |

सोशल मीडिया पर एक ऐसा विडियो वायरल हो रहा है जिसमें बीएसएफ जवान ने पैसा लेकर प्रधानमंत्री को मारने की बात कह रह है | इस वीडियों के बाद इनकी मुश्किलें अधिक बढ़ गयी है | मंगलवार को एडवोकेट कमलेश चंद्र त्रिपाठी ने इसके लिए एसएसपी आनंद कुलकर्णी को एक शिकायत पत्र लिखा है |

ये भी पढ़ें: पीएम मोदी के खिलाफ क्यों खारिज हुआ तेज बहादुर यादव का नामांकन – जाने…

Advertisement