Monday, January 24, 2022
भारत में विविध पार्टियों वाली राजनीतिक प्रणाली है, जिसमें छोटे क्षेत्रीय दल अधिक प्रबल हैं। राष्ट्रीय पार्टियां वह पार्टियां होती हैं, जो चार या अधिक राज्यों में मान्यता प्राप्त हैं, उन्हें यह अधिकार भारत के चुनाव आयोग द्वारा...
बहुमत शब्द का इस्तेमाल वोंटिंग के सन्दर्भ में किया जाता है। सामान्यतः जो उम्मीदवार सबसे अधिक मतों सी विजयी होता है उसे ‘बहुमत मिला है‘ कहते हैं। किसी संसदीय व्यवस्था मे संसद या विधानसभा में...
भारत में लोकतंत्र को मजबूती प्रदान करने के लिए संसदीय व्यस्था को अपनाया गया है, इसके अंतर्गत जनता के द्वारा प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से इसके सदस्य चुने जाते है, यही सदस्य देश के लिए...
भारत में चुनाव लड़ने के लिए राजनीतिक दलों को पंजीकरण निर्वाचन आयोग द्वारा किया जाता है |  चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के आधार पर उनको राष्ट्रीय या प्रदेश स्तरीय राजनीतिक दल के रूप में...
भारत में निर्वाचन आयोग चुनाव से सम्बंधित सभी प्रकार के अधिकार अपने पास सुरक्षित रखता है, भारत में कोई भी व्यक्ति स्वतंत्र रूप से अपने विचार रख सकता है और अहिंसावादी सभा का आयोजन कर...
किसी भी लोकतंत्रीय देश का आधार मतदान होता है, मतदान द्वारा ही देश के प्रत्येक नागरिक को अपने प्रतिनिधि को चुनने का अधिकार प्राप्त होता है, इस अधिकार को प्राप्त करने के लिए स्वतंत्रता पूर्व...
राज्य पाल राज्यों का संवैधानिक रूप से प्रमुख होता है, इसके हस्ताक्षर के बिना कोई भी विधेयक पास नहीं होता है, राज्य की वास्तविक शक्ति मुख्यमंत्री के पास होती है | राज्य पाल को महामहीम से सम्बोधित किया...
मेनका गांधी का जीवन परिचय (Maneka Gandhi Biography in Hindi) मेनका गांधी भारत की जानी मानी नेहरु – गांधी परिवार से संबंध रखने वाली एक प्रमुख सदस्य हैं, जो राजनेता के साथ-साथ एक लेखिका भी हैं| मेनका...
भारत में चुनावों का आयोजन भारतीय संविधान के अंतर्गत भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा किया जाता है। सभ्रांत लोग, जो मुख्य रूप से सरकार बनाने में रुचि लेते है, और वह अपने नागरिक कर्तव्य की पूर्ति...
चुनाव में प्रयुक्त प्रपत्रों से सम्बंधित जानकारी (Information Of Forms) लोकसभा की कुल 543 सीटों में से विभिन्न राज्यों से अलग-अलग संख्या में प्रतिनिधि चुने जाते हैं। इसी प्रकार अलग-अलग राज्यों की विधानसभाओं के लिए अलग-अलग संख्या में विधायक...