झांसी लोकसभा सीट पर अब तक के क्या रहे है आंकड़े, इस सीट पर कितने है मतदाता

Jhansi Lok Sabha Election- 2019

प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के समय से झांसी विश्व विख्यात है, यह रानी लक्ष्मीबाई की कर्मभूमि है| देश आजाद होने के बाद अब तक झांसी लोकसभा सीट पर 16 बार चुनाव हो चुके हैं, जिसमे की 9 बार कांग्रेस ने जीत दर्ज की है, बल्कि 5 बार बीजेपी और एक बार लोकदल को जीत मिल चुकी है| प्रथम लोकसभा के गठन के लिए झांसी लोकसभा सीट पर कांग्रेस के रघुनाथ विनायक धुलेकर ने जीत हासिल की थी| इसके बाद कांग्रेस लगातार पांच बार जीत दर्ज की|

नोट: रामपुर लोकसभा चुनाव चौथे चरण के अंतर्गत 29 अप्रैल को आयोजित किये जायेंगे|

ये भी पढ़ें: रामपुर लोकसभा सीट: UP आम चुनाव में क्यों है इतना खांस, क्या कहते है यहाँ के मतदाता

वर्ष 1977 में भारतीय लोकदल से सुशीला नायर ने जीत दर्ज की यह पहली बार हुआ था, जब कांग्रेस को इस सीट पर हार मिली थी

1980 और 1984 में कांग्रेस ने एक बार फिर से वापसी की और जीत दर्ज की

1989 में बीजेपी पहली बार झांसी संसदीय सीट पर जीत दर्ज की, इस सीट पर 1998 तक बीजेपी लगातार चार बार चुनाव जीतने में कामयाब रही

1999 में कांग्रेस ने फिर वापसी की

2004 में पहली बार सपा इस सीट को जीतने में कामयाब रही है

2009 में कांग्रेस के प्रदीप जैन आदित्य ने जीत दर्ज की

2014 की मोदी लहर में बीजेपी की फायर ब्रांड नेता उमा भारती जीतने में कामयाब हुई

झांसी लोकसभा सीट पर कितने है मतदाता

2011 की जनगणना के मुताबिक यहाँ की कुल जनसंख्या 27,57,007 है, जिसमे की 66.4 प्रतिशत ग्रामीण और 33.6 प्रतिशत शहरी जनसंख्या है| यहाँ पर कुल  मतदाता 19,91,832 है| अनुसूचित जाति 24 प्रतिशत, अनुसूचित जनजाति 2.27 प्रतिशत, मुस्लिम 9 प्रतिशत, सिख 2 प्रतिशत, जैन 3 प्रतिशत, इस सीट पर यादव और ब्राह्मण मतदाता काफी निर्णायक भूमिका निभाते है|

ये भी पढ़े: मुरादाबाद लोकसभा चुनाव 2019 में क्यों है सबकी नजर, क्या रहा है इस सीट का अब तक चुनावी सफर

ये भी पढ़ें:चुनाव आयोग द्वारा PM मोदी पर बनी बायोपिक फिल्म पर लगाई गई रोक